Ticker

6/recent/ticker-posts

तोरवा मुक्तिधाम में जगह नहीं मिली तो मुक्तिधाम के पीछे अरपा नदी में ही रचा दी चिता, और किया मृतकों का अंतिम संस्कार


बिलासपुर। कोरोना संक्रमण के कारण बिलासपुर में भी महामारी की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या में निरंतर इजाफा होता जा रहा है। शवों की अधिकता के कारण हालत यह हो गई है कि अब तोरवा मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार के लिए घंटों इंतजार करने के बाद भी नंबर आ जाय ऐसा जरूरी नहीं है। इस मुश्किल से निजात पाने के लिए आज रविवार को कुछ लोगों ने अपने मृत परिजनों की, तोरवा मुक्तिधाम के पीछे अरपा नदी में ही चिता रचाकर, अंतिम संस्कार किया। करते भी क्या..तोरवा मुक्ति धाम में नहीं मिली जगह तो मुक्तिधाम के पीछे अरपा नदी में भी आज अनेक शवों का किया गया अंतिम संस्कार। 
*बिलासपुर के प्रेस फोटोग्राफर श्री भूपेंद्र नारायण नवरंग अप्पू ने जब यह नजारा देखा तो वो भी हैरान रह गए। मुक्तिधाम के पीछे अरपा नदी मे जलती चिताओं की तस्वीर खींचते समय उनके भी हाथ कांप गए।*