Ticker

6/recent/ticker-posts

ग्रामीण क्षेत्रों के बड़े बड़े व्यापारियों द्वारा.... शहरी क्षेत्र से बुलवा कर करवाया जा रहा.... टीकाकरण जिससे स्थानीय लोग हो रहे टीकाकरण से.... वंचित

ग्रामीणों का आरोप है की वही कुछ बड़े-बड़े व्यापारी अपने परिवार एवं रिश्तेदारों व मित्रों को शहर से बुलवाकर लगवा रहे हैं कोविड-19 का टीका स्थानीय लोग आएं भटकते नजर

WEE NEWS MASTURI । जिले में चल रहा वैक्सीन टीकाकरण कार्यक्रम अब उस मोड़ पर आ गया है, जहां मस्तूरी विकास खण्ड के अंर्तगत वैकिनेशन केंद्रों में स्थानीय ग्रामीणों को पूरा नही मिल पा रहा टीकाकरण का लाभ इसे स्वास्थ विभाग का नाकामी कहे या वैक्सीन का डर जबकि वैक्सीन सबको लगवाना चाहिए क्योंकि इससे लोग सुरक्षित है किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नही है लोगों मे भ्रम नही फैलाना चाहिए  लेकिन मस्तूरी क्षेत्र में प्रचार प्रसार के अभाव या लोगो में भ्रम के वजह से ग्रामीण अंचलों में सही टीकाकरण नही हो पा रहा है वैक्सीन लगवाने बिलासपुर से  लोग मस्तूरी पहुंच रहे हैं जबकि इस क्षेत्र के ग्रामीणों को अबतक पहला डोज ही पूरा नहीं लग पाया इससे स्थानीय निवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है हैं दूसरा डोज के लिए भी लोग भटक रहे हैं ग्रामीण वा स्थानीय निवासी इस वजह से परेशानी भी महसूस कर रहे हैं क्योंकि उन्हें लग रहा है कि शहरों से लोग आकर उनके हिस्से का वैक्सीन लगवा ले जा रहे हैं। अब देखना यह होगा की इस खबर से मस्तूरी स्वास्थ विभाग का इस ओर  कितना ध्यान दिया जाता है     
जब इस मामले में मस्तूरी बीएमओ नंदराज कंवर से पूछा गया तो उनका मिला गोल माल जवाब अपने कर्मचारियों का लिया पक्ष इस तरह का  कोई मामला नहीं है ग्रामीणों को मिल रहा है टीका का लाभ  लेकिन रजिस्टर में साफ साफ देखा जा सकता है कि उसमें लगभग सभी का वैक्सीन लगवाने वाले का पता  बिलासपुर लिखा हुआ है।
मस्तूरी स्वास्थ केंद्र में बिलासपुर शहर एवं आसपास से वैक्सीन लगवाने मस्तूरी आ रहे हैं सूत्रों से  यह भी जानकारी मिली हैं कि स्वास्थ्य विभाग के कुछ कर्मचारियों द्वारा अपने पहचान के लोगों को बुलावा कर लगवाया जा रहा टीका है जब इस सम्बंध में मस्तूरी ब्लॉक खण्ड चिकित्सक अधिकारी नंद राज कवर का कहना हैं कि बीपीएल कार्ड और अंत्योदय कार्डधारी को पहले लगाना है मस्तूरी के कुछ लोग शहर में रहते हैं और उनके पास बीपीएल कार्डधारी है उनके परिवार वाले लोग लगवा रहे होंगे और भी जानकारी लेता हूं किस आधार में शहर के लोगों को मस्तूरी में लगवाया जा रहा है