Ticker

6/recent/ticker-posts

बीते वर्ष का गोठानो के व्यवस्था को लेकर अनुभव अच्छा नही रहा है...बिलासपुर जिले में कई गोठानो में लचर व्यवस्था के कारण गोवंश की छति देखने को मिली है , जो दुर्भाग्यपूर्ण ..... धीरेंद्र दुबे

WEE NEWS BILASPUR । वैश्विक महामारी कोरोना के कारण आम जन तो परेशान है ही शासन ,प्रशासन भी इस बीमारी से प्रभावित है , प्रशासन अन्य दिशा में सोच ही नही पा रहा है ,क्योकि आम लोगों की जान बचाना पहली प्राथमिकता है और टीकाकरण के लिए पूरा जोर लगा हुआ है ,लेकिन ऐसी परिस्थितियों में जो बेजुबान है उनका भी जान बचाना भी जरूरी है , और वो है गोवंश का टीकाकरण क्योकि बारिश और मानसून में ज्यादा समय नही रह गया है और बारिश के मौसम में मवेशियों को टीकाकरण उतना ही आवश्यक है जितना मानव के लिए आवश्यक है क्योंकि इस मौसम में ही मवेशियों को गलघोटू , एकटंगिया , की बीमारी बड़े तेजी से मवेशियों में फैलता है ,फिर जैसे ही ठंड पड़ना शुरू होता है (fMD )Food and mouth disease शुरू हो जाता है ,कोरोना के कारण पूरे प्रशासन का ध्यान आमजन को बचाने के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है , वैसे ही गोवंश को बीमारियों से बचाने बचाने भी टीकाकरण अत्यंत आवश्यक है ,भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष धीरेन्द्र दुबे ने इस विषय को लेकर गंभीरता से संयुक्त निर्देशक (JD) श्री आर .के.सोनवानी से मवेशियों के टीकाकरण के प्रशानिक तैयारियों के विषय मे फोन से जानकारी ली गयी एवम पूछा गया कि टिके की पर्याप्त आपूर्ति है या नही जिस पर श्री सोनवानी ने बहुत ही जल्द राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान चालू होने की बात कही ,भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष धीरेन्द्र दुबे ने इस दिशा में प्रशासन को पूरी गंभीरता से गोवंश के टीकाकरण के प्रदेश प्रशासन से मांग किया है , की गोठान की व्यवस्था भी मानसून पूर्व ठीक कर ली जाय ,धीरेन्द्र दुबे के कहा बीते वर्ष का गोठानो के व्यवस्था को लेकर अनुभव अच्छा नही रहा है ,बिलासपुर जिले में कई गोठानो में लचर व्यवस्था के कारण गोवंश की छति देखने को मिली है , जो दुर्भाग्यपूर्ण है , समय रहते  पूर्व ही प्रशासन तैयारी कर लेती है तो ऐसी घटना संभव ही नही होगी ।