Ticker

6/recent/ticker-posts

16 जून 2021 को सांकेतिक काम बंद करेंगे संविदा बिजली कर्मचारी |



WEE NEWS बिलासपुर। छत्तीसगढ़ स्टेट पावर कंपनी के कार्यरत विद्युत संविदा कर्मी पर हो रहे शोषण एवं नियमितीकरण की मांग को लेकर 16 जून को प्रदेश भर के 2500 विधुत संविदा कर्मी अपने-अपने ब्लॉक मुख्यालय में एक दिवसीय सांकेतिक काम बंद हड़ताल करने जा रहे हैं । संविदा कर्मचारियों ने सर्व प्रथम छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंधक निदेशक को 7 जून 2021 को ज्ञापन सौंपा इसके साथ ही प्रदेश के 8 रीजन 18 सर्कल एवं प्रदेश के समस्त डिवीजन में 8 एवं 9 जून 2021 को ज्ञापन कार्यक्रम प्रदेश भर में रखा गया था । इसी कड़ी में बिलासपुर के 200 से अधिक संविदा कर्मियों ने अपने क्षेत्र के मुख्य अभियंता एवं अन्य अधिकारियों के को ज्ञापन सौंपा  ।  छत्तीसगढ़ पावर कंपनी के कार्यरत संविदा कर्मचारियों ने बताया कि बिजली कर्मचारी संघ महासंघ के माध्यम से संविदा कर्मियों के नियमितीकरण के लिए वर्ष 2019-20 से पत्राचार एवं शांतिपूर्ण आंदोलन किया जा रहा है । कंपनी प्रबंधन द्वारा पूर्व में दो बार सौहार्दपूर्ण वार्तालाप के माध्यम से नियमितीकरण के लिए आश्वासन महासंघ को दिया गया था । 2 जुलाई 2019 को कंपनी प्रबंधन द्वारा संविदा कर्मियों के नियमितीकरण के लिए जानकारी भी एकत्र किया था । इसी बीच कंपनी में कार्यरत समस्त कर्मचारी एवं अधिकारी वर्ग का पदोन्नति प्रदान किया गया । किन्तु संविदा कर्मियों का 5 एवं 3 साल पूर्ण हो जाने के बाद भी संविदा कर्मियों का नियमितीकरण नहीं किया जा रहा है । जबकि पूर्व में 2 अथवा अधिकतम 3 वर्ष में नियमित किया जाता रहा है । प्रतिवर्ष कंपनी में पारेषण एवं वितरण कंपनी के विद्युत लाइनों का लगातार विस्तार किया जा रहा है, जिसके रखरखाव में संविदा कर्मियों का विशेष योगदान है । इसके अलावा प्रतिवर्ष नियमित विद्युत कर्मियों की संख्या में कमी होता जा रहा है । लेकिन कंपनी प्रबंधन द्वारा अभी तक संविदा नियमितीकरण की प्रक्रिया प्रारंभ नहीं किया है। जिस कारण पावर कंपनी में कार्यरत संविदा कर्मचारी प्रबंधन के उदासीन रवैया से  हताश में आक्रोशित है । विद्युत विभाग में कार्यरत संविदा कर्मियों का कार्य अत्यंत जोखिम पूर्ण है जिसमें सदैव दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है। कर्मचारियों ने बताया कि वर्ष 2016 से वर्तमान तक सैकड़ों दुर्घटना संविदा कर्मचारियों के साथ हो चुकी है । इसके अतिरिक्त 20 लोगों की विद्युत दुर्घटना में निधन तथा कुछ लोगों का कोरोनावायरस से भी निधन हुआ है।