Ticker

6/recent/ticker-posts

Crime news - आखिर कैसे हुई शनि की मौत विसरा जांच से खुलेगा राज

बिलासपुर।  पुलिस अभिरक्षा से भागे सनी मरकाम की मौत के कारणों का खुलासा अब तक नहीं हो पाया है अब पुलिस को विसरा जांच में शनि मरकाम की मौत के  कारणों की जानकारी मिल सकती है। तोरवा पुलिस जल्द  विसरा को जांच के लिए रायपुर स्थित फोरेंसिक लैब  भेजने की तैयारी में है। इसके लिए पुलिस ने सिम्स के डाक्टरों  के संपर्क में है। तोरवा  देवरीडीह निवासी सनी मरकाम हथकड़ी सहित पुलिस अभिरक्षा से 27 मई की दोपहर भाग गया था। इसके बाद पुलिस उसकी तलाश कर रही थी।इसके बाद शनिवार 29 मई को उसकी लाश अरपा नदी में बने चेक डेम  में  मैं देखी गई सनि की लाश मिलने के बाद उसके परिवार वालों ने पुलिस पर  गंभीर लापरवाही का आरोप लगाया था। परिवार वालों ने बताया कि मृतक सनी अच्छा तैराक था। उसके पानी में डूबने पर परिवार वालों को संदेह था। इधर पुलिस की पूछताछ में पता चला कि मृतक नशे का आदि था। इसके बाद पुलिस ने अधिक नशे में होने के कारण पानी में डूबने की आशंका जता रही है
पुलिस ने मृतक के पोस्टमार्टम के बाद विसरा सुरक्षित रखवा लिया था। पुलिस इसे जांच के लिए रायपुर लैब भेजेगी। इससे मौत से पहले मृतक द्वारा किस तरह का नशा किए जाने की जानकारी मिल सकेगी। तोरवा थाना प्रभारी ने बताया कि पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टर के छुट्टी में होने के कारण कुछ दस्तावेज पूरे नहीं हो सके हैं। डाक्टर के वापस आने पर विसरा जांच के लिए भेज दिया जाएगा।


आठ पुलिस कर्मियों का हो चुका बयान दर्ज

पुलिस अभिरक्षा से फरारी के दौरान सनी की मौत के बाद एसपी ने न्यायिक जांच के लिए आवेदन दिया था। इस पर जेएमएफसी आकांक्षा राठौर मामले की जांच कर रही हैं। मामले में अब तक आठ पुलिस कर्मियों के बयान दर्ज हो चुके हैं।