Ticker

6/recent/ticker-posts

Weenews- दंडित बंदी की मृत्यु पर कलेक्टर ने दिए दंडाधिकारी जांच का आदेश

बिलासपुर। दंडित बंदी की अपोलो अस्पताल में उपचार के दौरान दो मई को मृत्यु हो गई है। इस संबंध में कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी डा.सारांश मित्तर ने दंडाधिकारी जांच का आदेश दिया है। कलेक्टर ने जांच अधिकारी नियुक्त करने के साथ ही जांच के बिंदु भी तय कर दिए हंै। बिलासपुर सेंट्रल जेल में बंद सविता गिरी गोस्वामी(45) निवासी रायपुर की तबीयत बिगड़ने पर उसे अपोलो अस्पताल में इलाज के लिए जेल प्रबंध्ान ने भर्ती कराया था।

इस बीच उसकी तबीयत अचानक बिगड़ी और दो मई को शाम के वक्त उनकी मौत हो गई। अपोलो अस्पताल के चिकित्सकांे द्वारा मृत घोषित करने के बाद जेल प्रबंधन ने जरूरी औपचारिकताओं को पूरा कराने के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया था। मृत्यु के कारणों की जांच के लिए कलेक्टर ने दंडाधिकारी जांच कराने का आदेश जारी किया है। दंडाधिकारी जांच के लिए डिप्टी कलेक्टर अजीत पुजारी को जिम्मेदारी सौंपी गई है।


इस संबंध में स्वजन या अन्य व्यक्ति जिनको इस संबंध में जानकारी है शपथ पत्र के साथ जानकारी कार्यपालिक दंडाधिकारी के कोर्ट में एक जुलाई तक उपलब्ध करा सकते हैं। प्राप्त दावा आपत्ति के बाद दस्तावेजों की स्क्रूटनी की जाएगी। उसके बाद संबंधित व्यक्तियों को गवाह व प्रतिपक्ष के लिए समंस जारी किया जाएगा।

जांच के बिन्दुओं में

0 बंदी क्या जेल दाखिल होने के पूर्व से किसी बीमारी से पीड़ित था अथवा जेल दाखिल होने के पश्चात उसे बीमारी हुई।

0 बंदी को किसी प्रकार की शारीरिक यातना तो नहीं दी गई।

0 बंदी को उपचार के दौरान दी गई चिकित्सा पर्याप्त थी अथवा नहीं।

0 चिकित्सा का ब्योरा दिया जाये,बंदी की मृत्यु के क्या कारण हैं।

0 अन्य मुद्दे जो जांच के दौरान सामयिक पाए जाएंगे।