Weenews - टीवी सीरियल रामयुग में भगवान राम का चित्रण गलत व आपत्तिजन,धर्म जागरण मंच ने ज्ञापन सौंप की कार्यवाही की मांग

टीवी सीरियल के निर्माता निर्देशक संवाद लेखक सहित अन्य के खिलाफ हो कड़ी कार्रवाई


बिलासपुर। टी वी सीरियल रामयुग में आराध्य देव मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम का जो चित्रण दर्शया जा रहा है वह वास्तव में भगवान राम के चरित्र के संबंध में असत्य व भ्रामक है। इसके कारण हिन्दु संगठनों में टी वी सीरियल रामयुग के निर्माता निर्देशक संवाद लेखक व समस्त पात्रों के खिलाफ धर्म जागराण समन्वय विभाग के पदाधिकारियों ने आज पुलिस से शिकायत कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई व सीरियल रामयुग को बंद करने की मांग की
धर्म जागरण समन्वय विभाग के प्रान्त संयोजक अभय सिंह ने बताया कि ओ टी पी प्लेटफार्म मैक्स प्लेयर पर दिखाये जाने वाले टी वी सीरियल रामयुग में जो भगवान राम का चित्रण दिखाया जा रहा है वह वास्तविक चित्रण से विल्कुल अलग है । महर्षि वाल्मिकी तथा गोस्वामी तुलसीदास द्वारा लिखित रामायण से सर्वथा विपरित तथा आपत्तिजनक है। इस टी वी सीरियल से हिन्दु समाज की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंच रही है तथा राष्ट्रीय एकता तथा सद्भाव पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। जिला समन्वयक बीपी सिंह ने बताया कि वनवास काल में श्री राम द्वारा धारण किये गये वेश भूषा तथा जटाओं के विपरित उन्हे फिल्मी कलाकार की तरह दिखाया जा रहा है उन्हे धनुष एवं मुकुट विहीन प्रदर्शित किया गया है। श्री रामचन्द्र जी के कंधे में यज्ञोपवीत संस्कार के पश्चात धारण किया जाने वाला जनेऊ नही है उनके मस्तक से तिलक नदारद है साथ ही साथ सीरियल में उन्हे वनवास अवधि में माता सीता के साथ प्रेम प्रसंग करते हुए दिखाया जा रहा है । एवं माता  सीता को धनुष बाण चलाते दिखाया जा रहा है । 
जिसका वर्ण कही भी रामायण में नही है। साथ ही शूर्पणखा को कामुक वार्तालाप करते हुए सीरियल में दिखाया जा रहा है जबकि महर्षि वाल्मिकी व गोस्वामी तुलसीदास द्वारा लिखित रामायण में इसका वर्ण नही है। सीरियल के निर्माण निदेशक द्वारा मनगढ़त तरीके से भगवान राम के चरित्र का चित्रण किया जा रहा है। जो हिन्दुओं की धार्मिक भावना के साथ खिलवाड़ है । इससे हिन्दुओ धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है। वही रामभक्त हनुमान को अत्यंत हास्यापद तरीके से विदूषण युक्त दिखाया जा रहा है तथा उनके शरीर में भी जनेऊ नही है जबकि हनुमान चालीसा में कांधे मूंज जनेऊ छाजै वर्णित है। बी पी सिंह ने कहा कि हमारी मांग है कि टी वी सीरियल रामयुग के निर्माता, निर्देशक, संवाद लेखक, सहित सीरियल में पात्र निभा रहे कलाकारों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इस दौरान प्रांत सह संयोजक अभय सिंह, प्रांत निधि टोली सदस्य राजेश मिश्रा, प्रांत विधि प्रमुख आशीष शुक्ला, राजेश जिल्लारे बिलासपुर विभाग सह संयोजक, जिला संयोजक बी पी सिंह जिला सह संयोजक भृगु अवस्थी, धर्म रक्षाा वाहिनी जिला संयोजिका मनीष सिंह, प्रमोद सागर जिला परियोजना प्रमुख, हनुमान अग्रवाल,नारायण गिरी गोस्वामी, और बविता ताम्रकार सहित अन्य उपस्थित थे।
Previous Post Next Post