Ticker

6/recent/ticker-posts

weenews- भूपेश सरकार की उल्टी गिनती शुरू, ढाई साल नाकाम रही प्रदेश सरकार : रमन सिंह

बिलासपुरः बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार के ढाई साल पूरे होने पर जमकर निशाना साधा. रमन सिंह कांग्रेस सरकार के ढाई साल के हिसाब-किताब को लेकर आड़े हाथों लेते हुए नजर आए. 

भूपेश  सरकार की उलटी गिनती शुरू

रमन सिंह ने कहा कि ''छत्तीसगढ़ की बघेल सरकार के ढाई साल पूरे हो चुके है और अब इस सरकार की उलटी गिनती भी शुरू हो चुकी है. उन्होंने ने कहा कि जब मैं ढाई साल के विकास की बात करता हूं, तो सरकार की बौखलाहट दिखाई देने लगती है! ग्रामीण क्षेत्रों में जाने पर पता चलता है, कि लोगों के मन में निराशा, पीड़ा है, लोग ठगा सा महसूस कर रहे हैं
बिलासपुर में नहीं हो रहा काम 
रमन सिंह ने कहा कि ''ढाई साल में बिलासपुर में कॉलोनाइजर एक्ट का पालन नहीं हो रहा, सरकारी जमीन पर कब्जा हो रहा है. प्रशासन की शह पर दुकान, मकान जमीन पर कब्जा किया जा रहा है. प्रदेश में स्मार्ट सिटी का काम नहीं हुआ है. हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने कहा है, कि पूरे राज्य को गोबर बना दिया. बिलासपुर के तिफरा ओवरब्रिज, भैसाझार का काम नहीं हुआ. ऐसा लग रहा है कि यह सरकार पिछली सरकार के 5 साल के पुराने काम को नहीं कर पाएंगे. सरकार से सवाल होता है तो जवाब देने के बदले कार्रवाई करती है ।
हर मोर्चे पर फेल भूपेश सरकार 

पूर्व सीएम ने कहा कि ''कांग्रेस की ढाई साल की सरकार में ही लोगों का नुकसान हुआ है, हमने 15 साल में 33 हजार करोड़ का कर्जा लिया था. बघेल सरकार ने ढाई साल में 37 हजार करोड़ का कर्जा लिया है. इस सरकार की किसी योजना का कोई बजट नहीं बताया जाता.  सीमेंट रेट का भगवान मालिक है. सरकार लिकर, सेंड, भूमाफिया के फेर में फंसी है. अपना विकास की बात छोड़कर नरेंद्र मोदी सरकार की खिलाफत कर रहे हैं, उनके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं यह सरकार ढाई साल में हर मोर्चे पर फेल है.''


इमरजेंसी को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना 
''आज 25 जून है, आज के दिन आपातकाल को याद करने का दिन है. छत्तीसगढ़ के संदर्भ में देखा जाए, 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली, तो 25 जून 1975 को आपातकाल लगा, तो उसके बाद दूसरी आजादी मिली. इस दूसरी आजादी के नायक रहे, जयप्रकाश नारायण, अटल बिहारी बाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, जॉर्ज फर्नाडिस जैसे नेता. जिनकी वजह से आज हम आजादी से जी पा रहे हैं. आपातकाल में मीडिया पर भी बड़ी कार्रवाई हुई, आतंक और भय का माहौल बनाया गया.