डिग्री होने के बाद भी भटक रहे युवा... एमएसडब्लू के छात्र


WEE NEWS बिलासपुर।आज भारत की बड़ी समस्याओं में बढ़ती जनसंख्या, महंगाई, भ्रष्टाचार प्रमुख हैं। अगर युवाओं के दृष्टिकोण से बात की जाए तो सबसे बड़ी समस्या है बेरोजगारी है  बड़ी-बड़ी डिग्रियां लेकर भी युवा नौकरी के लिए दर-दर भटक रहे हैं। युवाओं की शिकायत है कि उन्होंने जो डिग्री हासिल की है, उसके अनुरूप उन्हें जॉब नहीं मिल रहा है। ‍डिग्रियों का अंबार लगाने के बाद भी सरकारी, निजी क्षेत्रों में नौकरियां नहीं हैं। सरकारी नौकरियों के बारे में युवाओं से पूछा जाए तो कहते हैं कि वहां तो भाई-भतीजावाद चलता है, रिश्वत लेकर नौकरियां बांटी जाती है। ताजा मामला  बिलासपुर के  छात्रों द्वारा उठाया गया जिसमें पंडित सुंदरलाल शर्मा ओपन यूनिवर्सिटी से  एमएसडब्ल्यू कर चुके  छात्र व उनकी  डिग्री को सरकारी विभागों में  मान्यता नहीं दी जाती है क्यों कि वह ओपन यूनिवर्सिटी है परंतु यूजीसी की की गाइडलाइन में लिखा है कि जो भी यूनिवर्सिटी को यूजीसी से मान्यता मिली है उस यूनिवर्सिटी की डिग्री सभी जगह मान्य होंगे लेकिन छत्तीसगढ़ शासन से संबंधित विभागों में ओपन यूनिवर्सिटी से   एमएसडब्ल्यू   करने वाले छात्रों को नही लिया जा रहा जिससे छात्र परेशान है।हाल ही में स्वास्थ्य विभाग में संविदा के पोस्ट में एमएसडब्लू  रेगुलर मंगा गया है।जिसके कारण छात्रों को परेशानियों का सामना करना पर है। छत्तीसगढ़ सरकार सभी बेरोजगार को नौकरी देने का वादा करती है लेकिन उनके ही विभाग इस दिशा में कोई कार्य नही करते है क्या विभाग से चूक हुई है की  यूजीसी के गाइडलाइन का  पालन होते भी नही दिख रहा है या कहा जाए अनदेखा किया जा रहा है। सरकार को इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए जिससे छात्रों का भविष्य अंधकार में ना जाए। और नौकरी के लिए किसी भी छात्र को दर-दर भटकना न पड़े।
Previous Post Next Post