Ticker

6/recent/ticker-posts

(भिलाई-दुर्ग) आबंटित भू-खंड में असामाजिक तत्वों ने किया अवैध कब्जा, कलेक्टर एवं उद्योग महाप्रबंधक से आबंटी ने की शिकायत


0 भू-माफिया की नजर औद्योगिक क्षेत्र के कीमती भू-खंडों पर
0 महिला उद्यमी ने जानमाल के खतरे को देखते हुए कलेक्टर से सुरक्षा की मांग की
भिलाई-दुर्ग, 03 जुलाई। भिलाई एवं दुर्ग क्षेत्र के औद्योगिक क्षेत्र में सरेआम आबंटित भूमि पर अवैध कब्जा कर आबंटी श्रीमती पूजा अग्रवाल 98 एच-1 इंडस्ट्रीयल स्टेट भिलाई एसबीआई के पीछे हाउसिंग बोर्ड कालोनी निवासिनी ने कलेक्टर एवं उद्योग महाप्रबंधक से मेसर्स जान्हवी इंडस्ट्रीज भू-खंड क्रमांक-98/एच 01 एवं मेसर्स साहिल इंडस्ट्रीज भू-खंड क्रमांक 98/एच-2 औद्योगिक संस्थान भिलाई में भूमि का आबंटन किया था। उक्त आबंटित भू-खंड में आबंटित महिला उद्यमी पूजा अग्रवाल द्वारा इकाई स्थापना के लिए निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया है। पिछले दो तीन माह में श्रीमती पूजा अग्रवाल द्वारा उक्त भू-खंड में बाउंड्रीवाल निर्माण हेतु मलबा भरकर भवन को उद्योग स्थापित करने के लिए समतल किया जा रहा है। किंतु आसपास के कुछ आसामाजिक तत्वों द्वारा निर्माण कार्य में जबरिया व्यवधान डालकर धमकी-चमकी देकर उक्त निर्माण को अवैध रूप से अपना कब्जा बताकर रोकने की कोशिश की जा रही है। आबंटित इकाई स्वामिनी श्रीमती पूजा अग्रवाल ने इस संबंध में कलेक्टर एवं उद्योग महाप्रबंधक दुर्ग को सूचित करते हुए शिकायत की है कि उनके द्वारा भू-खंड के संबंध में नगरपालिक निगम भिलाई एवं हाउसिंग बोर्ड विभाग के अधिकारियों द्वारा आबंटित भू-खंड के संबंध में दस्तावेज स्वयं उनके हस्ताक्षर से उपलब्ध करा दिए गए हैं। इसके बाद भी उन्हें गुंडा तत्वों द्वारा निर्माण कार्य को स्थल में पहुंचकर काम करने वाले कर्मचारियों को रोकने की कोशिश लगातार जारी है।
पूजा अग्रवाल ने जारी विज्ञप्ति में बताया कि उक्त क्षेत्र में सरकारी भूमि पर अनेक अवैध कब्जाधारी बस्ती बनाकर रह रहे हैं। गलत दस्तावेजों के आधार पर कई ने अपने घरों में नलों का कनेक्शन लगवाया है। फौजी नगर से नामित उक्त बस्ती संपूर्ण रूप से औद्योगिक भूमि विकास क्षेत्र के नाम से चिन्हांकित की गई है। पास ही स्थित खेल ग्राउंड का सभा मंच भी हड़पने की साजिश भू-माफियाधारियों द्वारा की जा रही है।
उन्होंने कलेक्टर दुर्ग से शिकायती पत्र में 28 जून को उनके आवास में छोटे-छोटे बच्चों एवं महिलाओं एवं पुरूषों का समूह लेकर 50-60 लोगों द्वारा उनकी भूमि पर अवैध कब्जा करने की नियत से पैसा वसूली का प्रलोभन देकर धरना-प्रदर्शन करने की धमकी दी। उस उक्त वे आवास में अकेली थीं। आसपास में जबरिया आसामाजिक तत्वों द्वारा तनाव उत्पन्न करने की कोशिश की गई जो सुरक्षा की दृष्टि से अनुचित है। इस संबंध में उनके सुपरवाईजर ने घटनास्थल से ही जामुल थाना प्रभारी को फोन कर पुलिस को बुलवाया। पुलिस की आने की बात सुनकर और हंगामा बढ़ा और भीड़ में जमा हुए लोग पुलिस हमारा क्या उखाड़ेगी हल्ला करने लगे। तमाम घटनाक्रम आबंटित महिला उद्यमी को हतोत्साहित करने की दृष्टि से किया गया है। आसपास के लोग पूजा अग्रवाल को धमकी दे रहे थे कि फौजी नगरवासियों को पीछे लगा दूंगा। सारी हेकड़ी भूल आओगी। भीड़ में सामने खड़े अजय राणा, निरज गुप्ता, सूर्य प्रकाश आर्य, सानू, गोविंद डोरले, नोने सरदार, वाहिद खान, राजेश थुलठर एवं कुंदन झा ने भीड़ को आबंटित भूमि पर कब्जे के लिए उकसा रहे थे। उक्त मामले में पूजा अग्रवाल ने कलेक्टर दुर्ग को जानमाल की हानि को देखते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की है। साथ निर्माण कार्य में लाखों रूपए व्यय होने के उपरांत उस क्षेत्र को पुलिस प्रशासन के संरक्षण में सुरक्षित स्थल घोषित करने की भूस्वामिनी के पक्ष में मांग की है।
उक्त मामले में उन्होंने नगरपुलिस अधीक्षक दुर्ग को, थाना प्रभारी जामुल, आयुक्त नगरपालिक निगम भिलाई एवं हाउसिंग बोर्ड के उद्योग प्रबंधक को आबंटित भूमि के संबंध में उन्हें भूमि आबंटन के सिलसिले में सार्वजनिक अधिसूचना दैनिक पत्रों के माध्यम से जारी करने की मांग की है।
गौरतलब हो कि वर्तमान स्थिति में राज्य सरकार ने स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए राज्य में ऐसे उद्योगों की स्थापना के लिए कई सारी योजनाएं बनाई है इन उद्योगों के लगने से स्थानीय इलाकों में कम प्रदूषण तथा महिलाओं को स्वरोजगार भी मिलता है।
0