“मेरा जीवन बिखर गया है.....विमल दासंगीत निर्देशक,रंगकर्मी मनीष दत्त को गुरु पर्व पर संस्था ने स्मरण किया


काव्य भारती के सदस्यों ने भेजा गीतों से संदेश 
WEE NEWS बिलासपुर । वरिष्ट संगीत निर्देशक,रंगकर्मी दादा मनीष दत्त को गुरु पूर्णिमा पर्व पर काव्य भारती कला एवं संगीत मण्डल परिवार व नगर के प्रबुद्ध जनो ने उन्हें स्मरण कर पुष्पांजलि अर्पित की । 
उनके निर्देशन में रचे निराला,नीरज,बच्चन,महादेवी वर्मा,मीरा,कबीर,जायदी,डॉ अजय पाठक के गीतों की संगीत मय प्रस्तुति व रिकाडिंग भेजकर याद किया गया । संस्था के वरिष्ट संरक्षक देश के विख्यात फ़िल्मी गीतकार मो.रफ़ी साहब के शिष्य विमल दा ने कवि नीरज का गीत मेरा जीवन बिखर गया है लिख अपना संदेश भेजा ।जिसे दादा की शिष्या डॉक्टर रत्ना मिश्रा ने गाकर दादा को याद किया । 
इस अवसर पर संस्था के सचिव वरिष्ट साहित्यकार डॉ विजय सिन्हा ने कहा मनीष दत्त ने काव्य को संगीत के माध्यम से जन प्रिय बनाया । उन्होंने लगभग दो हज़ार से ज़्यादा स्थानीय,राज्य,देश के कवियों की रचनाओं को संगीत बद्ध किया वे सदैव स्मरणीय रहेंगे । संस्था के अध्यक्ष पूर्व विधायक चन्द्र प्रकाश बाजपेयी ने मनीष दादा के संघर्ष यात्रा को स्मरण कर अपनी भावांजलि अर्पित करते हुये कहा कि उनकी इस साधना का सम्मान पद्मश्री से होना चाहिये । श्री बाजपेयी ने  योग गुरु ओ केशरी श्रीधरन,संगीत गुरु गुणवंत व्यास को भी पुष्पांजलि अर्पित करते संस्था के संरक्षक सदस्य विनोद श्रीवास्तव,कन्हैया लाल मिश्रा,एल के पांडेय,देवेंद्र तिवारी,बसंत शर्मा को भी स्मरण कर श्रद्धांजलि अर्पित की । 
कोरोना काल में अपना संदेश भेजकर गुरु पर्व मनाने का निर्णय संस्था ने लिया था । प्रातः 9-00 बजे बाजपेयी परिषद 27  खोली गार्डन में दादा मनीष दत्त के चित्र पर माल्यार्पण,रोचन,वंदन,धूप,दीप भोग लगाकर दादा को स्मरण किया गया । 
इस अवसर पर उपस्थित सदस्यों ने आराधना गीत,भजन,हाँथ वीणा,घिर आइ रे बदलिया,सावन की मन भावन की,ऋतु पावस कहाँ से आये,अच्चुतम केशवम,गोविन्द बोलो हरि,ख़ुशी से जो अपना सिर झुका लेते है,इस समर में कौन ताण्डव कर गया है.परमात्मा गुरु निकट विराजे जाग जाग मन मेरे की प्रस्तुति डॉक्टर सुप्रिया भारतीयन,डॉक्टर रत्ना मिश्रा,एस भारतीयन,अचिन्त्य बोस,गौरव गुलहरे,अनिरुध मिश्रा,ज्योति चौधरी,डॉक्टर विनोद डी रंगरी ने संगीत मय रिकार्डिंग भेजते हुये प्रस्तुति बिखेर दी ।  
गुरु पूर्णिमा पावन पर्व पर काव्य भारती परिवार सहित नगर के प्रबुद्ध जन व साहित्यकार 27 खोली गार्डन पहुँचकर व वर्चुवल संदेश भेजा जिसमें वरिष्ट साहित्यकार डॉ विनय पाठक,डॉ गिरधर शर्मा,डॉ विजय सिन्हा,डॉ अजय पाठक,डॉ किरण बाजपेयी सुश्री मंगला ताई देवरस,भारती भट्टाचार्य,डॉ सोम यादव,श्रीमती उर्मिला सिन्हा,डॉ उषा किरण बाजपेयी,सविता कुशवाहा,संधिया शुक्ला,श्रीमती बलवंत कौर,अजिता मिश्रा,राजेश अग्रवाल,चन्द्र शेखर बाजपेयी,डॉ अजय श्रीवास्तव,रमाकांत सोनी,श्रीमती चन्द्र कांता तिवारी,अतुल तिवारी,पूर्व पार्षद अखिलेश बाजपेयी,चन्द्र आर्या,अभिषेक दुबे,चन्द्र मौली,के के साहू,पंकज अग्रवाल,गीता चौधरी,पप्पू आहूजा,विजय चौधरी,ऐ भारत,एन के मधुकर,डी के दिवेदी,योगिता तिवारी,शिशिर पागे,अनिल गढ़ेवाल,राम नारायण,बाबू शास्त्री,त्रिवेणी भोई,बंटी नारंग सहित काफ़ी संखिया में उपास्थि होकर व वर्चुवल भाग लेकर दादा मनीष दत्त को स्मरण किया ।  
(गौरव गुलहरे कार्यालय सचिव)
मो.7777883353
Previous Post Next Post