Weenews - सियासी उठापटक, पंजाब के बाद राजस्थान क्या अगला नंबर छत्तीसगढ़ का

रायपुर | पंजाब में हुए सियासी घटनाक्रम के बाद सभी की नजरें  कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व पर टिकी है पंजाब में हुए राहुल-प्रियंका या कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात करने वाले हर एक शख्स के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। इस बीच राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिव पायलट भी राहुल गांधी व प्रियंका गांधी से मुलाकात कर चुके हैं। उनकी यह मुलाकात ऐसे समय पर हुई जब राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार और संगठन में फेरबदल के कयास लगाए जा रहे हैं। 


राजस्थान में पहले से कांग्रेस के अंदर चल रहा है विवाद
पंजाब के बाद राजस्थान दूसरा राज्य है जहां पर कुर्सी का विवाद चरम पर पहुंच चुका है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच विवाद सार्वजनिक तौर पर सामने आया है। पिछले दिनों गहलोत की कार्यशैली से खफा सचिन पायलट व उनके समर्थक विधायकों ने बगावत कर दी थी। अब सचिन पायलट मंत्रिमंडल विस्तार और राज्य के बोर्ड व निगमों में शीर्घ नियुक्ति की मांग कर रहे हैं। ऐसे में उनकी मुलाकातों को मंत्रिमंडल विस्तार में हस्तक्षेप के तौर पर भी देखा जा रहा है। वहीं यह भी माना जा रहा है कि राजस्थान में कुर्सी को लेकर छिड़ा यह संग्राम भी सामने आ सकता है। क्योंकि कई दिनों से वहां सत्ता परिवर्तन की भी मांग हो रही है। 

अगला नंबर छत्तीसगढ़ का!
यह तो साफ तौर पर सभी के सामने है कि राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य रह जाएगा जहां पर कांग्रेस को विवाद सुलझाना है। दरअसल, यहां मंत्री टीएस देव सिंह भी सीएम की कुर्सी पर बैठना चाहते हैं। ऐसे में वे भूपेश बघेल के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। इसी विवाद को लेकर पिछले दिनों छत्तीसगढ़ कांग्रेस नेताओं की दिल्ली में पेशी भी हुई थी। 
Previous Post Next Post