सिहोरा मे किसान आज रोकेंगे रेल

सिहोरा जिला के लिए दूसरे रविवार को भी धरना
 घर घर पर्चे बांट आंदोलन तेज करेगी समिति
सिहोरा - सिहोरा को जिला बनाए जाने के लिए समिति का  धरना आज दूसरे रविवार भी जारी रहा।अपने आंदोलन को तेज करते हुए लक्ष्य जिला आंदोलन
समिति ने बस स्टैंड सिहोरा में उपस्थित प्रत्येक जन और व्यापारी वर्ग को पर्चे भेंट कर आंदोलन में आने का आह्वान किया।समिति ने घोषणा की कि अब घर
घर पर्चे बांट आंदोलन को तेज करने की मुहिम छेडी जाएगी।समिति ने मुख्यमंत्री कार्यालय एक ज्ञापन और पर्चे को मेल करते हुए सिहोरा को जिला बनाने जल्द निर्णय लेने की अपील भी की। पूर्व घोषित आंदोलन के क्रम में आज दूसरे रविवार को भी बस

स्टैंड सिहोरा में लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने 2 घंटे का धरना
दिया।आज के धरने में नगर के युवा वर्ग ने बढ चढकर हिस्सा लिया।धरनारत
आंदोलनकारियों ने धरने के दौरान सिहोरा बस स्टैंड में मौजूद प्रत्येक नागरिक तक अपनी बात पहुंचाने के लिए पर्चे का वितरण किया। बस स्टैंड में
प्रत्येक छोटे बडे व्यापारी को उसकी दुकान पहुँच जिला सिहोरा संबंधी पर्चा भेंट कर सिहोरा के सम्मान में मैदान में आने का आह्वान किया।
 
 घर घर पर्चा बांट खडा करेंगे जनांदोलन
समिति के विकास दुबे,सुनील जैन,मानस तिवारी,सियोल जैन,अमित बक्शी आदि ने
कहा कि अब सिहोरा के प्रत्येक घर मेंं पर्चा बांट सिहोरा जिला के आंदोलन
में जनभागीदारी बढाई जाएगी।इसके लिए प्रत्येक वार्ड का अलग अलग प्रभारी
बनाया जाएगा।
 
मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

धरनारत आंदोलन समिति ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यालय अपना
ज्ञापन और पर्चे को मेल कर सिहोरा को जिला बनाने की मांग की। मुख्यमंत्री के नाम प्रेषित ज्ञापन में समिति ने मांग की जनभावना से जुडे इस मुद्दे पर सरकार को जल्द निर्णय लेना चाहिए अन्यथा आंदोलन को और तेज किया जाएगा। आज के धरने में शुभम विश्वकर्मा,अंशुल बक्शी,प्रयास मिश्रा, महेंद्र गुप्ता,रोहित पटेल,ऋषभ दुबे,रामलाल साहू,नीरज साहू,अजय पटेल,वीरेंद्र पटेल,अमित खत्री,पवन तिवारी,गुलशन अहमद,रणधीर राय, अनिल जैन सहित सैकडों सिहोरावासी उपस्थित थे।

 मंथली सीजन टिकट के अभाव में बेरोजगार हो रहे युवा रेल्वे से शीघ्र टिकट चालू करने की मांग
सिहोरा - कोरोना काल के दौरान  बंद पड़ी आर्थिक  गतिविधियों को गति
प्रदान करने अनलाक की प्रक्रिया तो प्रारंभ कर दी गई किंतु आवागमन के सीमित संसाधनों के चलते ग्रामीण क्षेत्र के बाशिंदे रोजगार की तलाश में
जिला मुख्यालय अथवा महानगर नहीं जा पा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि सिहोरा एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्र से प्रतिदिन रोजी रोजगार की तलाश में डेढ़
से 2000 लोग जबलपुर कटनी अप डाउन करते थे। 15 अप्रैल से लागू लॉकडाउन में बेरोजगार हुए लोगों को अनलाक की प्रक्रिया से भी कोई लाभ होता प्रतीत
नहीं हो रहा है क्योंकि सबसे सस्ते एवं सरल आवागमन के साधन रेल सुविधाओं में अभी भी मंथली सीजन टिकट की सुविधा बहाल नहीं हो सकी है जिसके चलते
युवाओं को महंगी बस अथवा दो पहिया वाहनों से यात्रा करने विवश होना पड़ रहा है । आवागमन व्यय के रुप मे आधे दिन  की मजदूरी व्यय करने के कारण
शहरी क्षेत्रों में जाकर काम करने वालों को अजीविका  चलाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।
    अनेक डाउनर्स ने बताया कि सिहोरा से डेली 1000 से 1500 लोग डेली सिहोरा से जबलपुर अप डाउन करते हैं, कोविड19 से पहले सर हम लोग का पास
(इमेस्टि) 185 रुपये में बनता था। कोविड19 के चलते  ये सुविधा सब बंद हो
गई। वर्तमान में जबलपुर आने जाने हेतु रिजर्वेशन करने का  65 रुपये लगता हैं आने जाने का 130 रुपये हैं 300 की मजदूरी करने वाले गरीब लोग 130 की
डेली टिकट बनवाने के सक्षम नही है । अप डाउनर्स ने मांग की है की समस्या का शीघ्र निराकरण किया जाना चाहिए  जिससे  निम्न वर्ग के लोग डेली रोजगार
की तलाश में जबलपुर जा सके।
 मेमु की टाइमिंग से नही मिल रहा लाभ रेल्वे प्रवन्धन ने अपडाउनर्स को राहत देने विन्डो से टिकट एंव एम एस टी सुविधा के साथ मेमू ट्रेन का
संचालन प्रारंभ तो कर दिया किंतु मेमू की टाइमिंग के कारण इसका लाभ अब डाउनर्स को नहीं मिल पा रहा। इसका लाभ तभी मिलेगा जब और भी मेमु ट्रेन
सुबह की टाइमिंग में चालू हो जाये।

किसान मोर्चा का स्टेशन में प्रदर्शन आज
सिहोरा - संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर रविवार को, भारतीय किसान
यूनियन के जिला अध्यक्ष एडवोकेट रमेश पटेल के नेतृत्व में बैठक का आयोजनकिया गया जिसमें  निर्णय लिया गया कि कल 18 अक्टूबर सोमवार को रेलवे स्टेशन खितौला में शाम 4 बजे प्रदर्शन कर  ज्ञापन दिया जायेगा। इस अवसर पर सिहोरा ब्लॉक अध्यक्ष  विनय पटेल, नगर अध्यक्ष  प्रमोद ठाकुर, मझौली ब्लॉक अनिल पटेल बघेली, अवसर पटेल नुन्जा , दशरथ पटेल , सुरेंद्र पटेल हरसिंगी , संतोष पटेल जुनवानी, वीरेंद्र पटेल जुनवानी, जौहरी प्रसाद पटेल सिमरिया सहित अनेक किसान उपस्थित थे ।
Previous Post Next Post