Ticker

6/recent/ticker-posts

Weenews- क्या छत्तीसगढ़ में कोरोना की तीसरी लहर की दस्तक?रायपुर में तीन दिन में दोगुने हुए कोरोना के एक्टिव केस

 छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से टेंशन देने  वाली खबर सामने आई है. दरअसल रायपुर में बीते तीन दिनों में कोरोना (Coronavirus) के एक्टिव केस (Active Case) की संख्या बढ़कर दोगुनी हो गई है. 17 अक्टूबर को जहां राजधानी में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 15 थी, वही आज बढ़कर 30 हो गई है. हालात को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम अलर्ट हो गई है और टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर फोकस कर रही है. 

बता दें कि रायपुर में रोजाना साढ़े चार हजार सैंपलिंग का लक्ष्य रखा गया है लेकिन पिछले दिनों में सिर्फ 20-25 फीसदी ही सैंपलिंग हो पा रही थी. सीएमएचओ मीरा बघेल ने बताया कि टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जा रही है. उन्होंने भी माना कि रायपुर में कोरोना के मामले बढ़े हैं. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर कोरोना की तीसरी लहर (Coronavirus Third Wave) की आशंका पैदा हो गई है.

मध्य प्रदेश (MP) में कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी देखी गई है. राजधानी भोपाल में कोरोना के मामले बढ़े हैं. साथ ही धार, इंदौर, शहडोल, जबलपुर, उज्जैन, सागर, बैतूल, भिंड आदि जिलों में भी कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है. प्रदेश में अभी एक्टिव केस की संख्या 80 है. 


जानिए कितनी है तीसरी लहर की आशंका?
कोरोना की तीसरी लहर के आने का खतरा बना हुआ है. हालांकि एक्सपर्ट की मानें तो मौजूदा परिस्थिति को देखते हुए इसके चांस कम ही हैं. इसकी वजह ये है कि देश में कोरोना के मामलों में तेजी से गिरावट देखी जा रही है. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लोर के क्लीनिकल वायरोलॉजी और माइक्रोबायलॉजी विभाग के हेड डॉ. जैकब जॉन का कहना है कि अभी कोरोना की तीसरी लहर के आने के चांस बेहद कम हैं. अगर यह आती भी है तो यह अगले साल के मध्य में या फिर अंतिम तिमाही में आ सकती है. अगस्त में डब्लूएचओ की चीफ साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने भी कहा था कि भारत में कोरोना महामारी कमजोर पड़ रही है. 
सरकारी कोविड टास्क फोर्स के सदस्य डॉ. शशांक जोशी का भी कहना है कि कोई भी कोरोना की तीसरी लहर के समय के बारे में अनुमान नहीं लगा सकता है. अगर कोई नया वैरिएंट आने वाला है तो उसके बारे में कोई भी पहले से नहीं बता सकता. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि अभी कोरोना की एक और लहर आ सकती है. ऐसे में हमें सावधानी रखने की जरूरत है.