Weenews - बड़ी खबर-नेतृत्व परिवर्तन के मुद्दे पर बोले भूपेश बघेल आलाकमान के फैसले को मानूंगा

रायपुर। ढाई-ढाई साल के फार्मूले पर छत्तीसगढ़ में राजनीतिक पारा चढ़ा हुआ है। टीएस सिंहदेव लगातार दिल्ली में अपने समर्थकों के साथ डेरा डाले हुए हैं। इस बीच राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की खबर के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि आलाकमान का जो फैसला होगा, उसे वह स्वीकार करेंगे। टीएस सिंहदेव के बयान पर सीएम ने कहा यह सब चलता रहेगा। मैं पहले भी कह चुका हूं हाईकमान जो भी निर्णय लेगा, सब मानेंगे। एक ही बात बार बार दोहराने का क्या फायदा।

बताते चलें कि बस्तर दशहरा में शामिल होने दो दिन के दौरे के दूसरे दिन सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल यहां से 32 किलोमीटर दूर बकावंड ब्लाक के गिरोला जाएंगे। गिरोला बस्तर विधायक व बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल का गृह ग्राम है। भूपेश बघेल के समर्थन में बस्तर संभाग से मोहन मरकाम और लखेश्वर बघेल ही ऐसे विधायक हैं, जो दिल्ली नहीं गए थे।

हालांकि, बस्तर की राजनीति में लखेश्वर बघेल को सिंहदेव का करीबी माना जाता है। गिरोला में आदिवासी समाज की सभा में भूपेश बघेल शामिल होंगे। यहां स्थित ख्याति प्राप्त माता हिंगलाजिन मंदिर में भी मुख्यमंत्री देवी दर्शन करेंगे। ज्ञात हो कि विधायक लखेश्वर बघेल इस मंदिर के प्रधान पुजारी भी हैं।

उधर, सूत्रों के हवाले से यह भी खबर मिल रही है कि भूपेश बघेल के दीपावली से पहले सीएम पद छोड़ने के लिए प्रियंका गांधी की तरफ से कहा गया है। वहीं, सिंहदेव भी पूरे आत्मविश्वास के साथ यह कहते दिख रहे हैं कि आलाकमान के पास इस मामले में फैसला सुरक्षित है।
Previous Post Next Post