Ticker

6/recent/ticker-posts

तहसील की 58 पीडीएस दुकानों को संभाल रहे 36 सेल्समेन

तहसील की 58 पीडीएस दुकानों को संभाल रहे 36 सेल्समेन
बड़ा सवाल - एक सेल्समैन के हवाले दो राशन दुकान
ऐसे में कैसे नियमित खुलेगी राशन दुकान

सिहोरा
जहां एक ओर बल्लभ भवन भोपाल में बैठे
अधिकारी निचले स्तर पर आदेश जारी कर राशन दुकानों को महीने के प्रत्येक दिन दुकान खोलने के आदेश तो जारी कर देते है, परंतु एक सेल्समैन के भरोसे दो राशन दुकानों का संचालन सौंपा गया है।।ऐसे में नियमित राशन दुकान कैसे खुल पाएगी यह एक बडा सवाल है।
भले ही प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा एक दुकान एक विक्रेता का फार्मूला अपनाने का निर्देश वर्षों पूर्व सहकारिता विभाग खाद्य विभाग को दिया जा चुका है परंतु आज भी एक विक्रेता के सुपुर्द दो दुकान के राशन की वितरण की जवाबदारी दी गई है। भले ही सार्वजनिक खाद्यान्न वितरण प्रणाली में कसावट व पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से बैठकों में उच्चाधिकारियों द्वारा दिशा निर्देश जारी तो किए जाते हैं, परंतु सेल्समैनो के अभाव के चलते  ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित राशन दुकानों की वितरण व्यवस्था बेपटरी हो गई है।
गरीब जनता राशन पाने के लिए तीन तीन दिन लाइन में लगती है, तब कहीं जाकर उन्हें महीने भर का राशन मिल पाता है। जिसके चलते गरीबों को आर्थिक
नुकसान उठाना पड़ता है एवं अनावश्यक समय खराब करना पड़ता है

किराए के भवनों में चल रही राशन दुकान

सिहोरा तहसील के अंतर्गत लगभग डेढ़ दर्जन राशन दुकान किराए के जर्जर मकानों में संचालित हो रही है। इन राशन दुकानों के लिए नए भवन स्वीकृत कराने की जिम्मेदारी सहकारिता विभाग की है। परंतु विभागीय अधिकारियों की दिलचस्पी नहीं दिखने के कारण आज स्थिति यह है की तहसील की अनेकों दुकान खंडहरनुमा मकानों पर संचालित हो रही है। खंडहर राशन दुकानों में रखा खाद्यान्न बारिश के समय खराब तक हो जाता है और फिर वही राशन गरीबों को बांट दिया जाता है।  तहसील की ज्यादातर राशन दुकान गांव में स्थित शासकीय भवन यात्री प्रतीक्षालय सामुदायिक भवन या अन्य खाली पड़े टूटे-फूटे शासकीय भवनों पर संचालित हो रही है। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संचालित आत्मनिर्भर भारत योजना कार्यक्रम के तहत गांव में राशन दुकान के भवन निर्माण स्वीकृति संबंधी प्रस्ताव मांगे गए हैं। अब देखना यह है की संबंधित ग्राम पंचायतों के सरपंच सचिव व सहकारिता विभाग के अधिकारियों द्वारा किन-किन गांव में राशन दुकान भवन बनाने हेतु तत्परता के साथ प्रस्ताव भेजे जा रहे।

खास-खास

सिहोरा तहसील के अंतर्गत 160 गांव

सिहोरा तहसील में राशन दुकानो
की संख्या  58

सेल्समैन की संख्या  36

किराए के भवन में संचालित 16
राशन दुकान 

सिहोरा तहसील में टोटल कार्डधारी 28935

सिहोरा तहसील में कुल यूनिट
106351

ए. ए .बाय.कार्डधारी  4020 यूनिट 88074

पी.एच.एच कार्ड धारी 24915
कुल यूनिट   88074

इनका कहना 
राशन दुकान के संचालकों की भर्ती प्रक्रिया पूर्व में की गई थी और जहां अभी विक्रेताओं के पद रिक्त हैं नई भर्ती की जाएगी। शीघ्र ही एक राशन दुकान

एक विक्रेता का फार्मूला अपनाया जाएगा।
पी.के सिद्धार्थ, सहायक आयुक्त सहकारिता विभाग जबलपुर