नगर भ्रमण पर निकले भगवान संभव नाथ और चंद्रप्रभु

नगर भ्रमण पर निकले भगवान संभव नाथ और चंद्रप्रभु

जयपुर से सफेद पाषाण से निर्मित पद्मासन मुद्रा की प्रतिमा पहुंची सिहोरा,  नगर के प्रवेश द्वार बाबा ताल मंदिर में भक्तों ने की भव्य अगवानी

सिहोरा

जयपुर से सफेद पाषाण से निर्मित भगवान संभव नाथ एवं भगवान चंद्रप्रभु की पद्मासन मुद्रा की प्रतिमा मंगलवार को सिहोरा पहुंची। नगर के प्रवेश द्वार श्री शिव मंदिर बाबा ताल में भक्तों ने भगवान की भव्य अगवानी की। नगर भ्रमण शोभायात्रा बाबा ताल मंदिर से मैना कुआं,  बड़गैया
एसटीडी, ज्वालामुखी, पोस्ट ऑफिस, पुराना बस स्टैंड होते हुए गौरी तिराहा, आजाद चौक, काल भैरव चौक, महावीर चौक होते हुए 1008 श्री पार्श्वनाथ पंचायती दिगंबर जैन मंदिर पहुंची। 

घरों के सामने सजाई रंगोली, उतारी भगवान की मंगल आरती

नगर भ्रमण पर निकले भगवान संभव नाथ एवं चंद्रप्रभु की भक्तों ने अपने घर के सामने रंगोली सजाकर मंगल आरती उतारी। धार्मिक धुनों पर भगवान की श्रद्धा और भक्ति मे लीन भक्त हाथों में पीला ध्वज लिए चल रहे थे। जैन ट्रेडर्स सिहोरा के संजय जैन, आलोक जैन, सुशीला जैन और जैन को पुस्तक भंडार के कमलेश, प्रश्न जैन ने यह दोनों प्रतिमा है जयपुर से मंगवाई हैं।

पंचकल्याणक महोत्सव में विधि विधान से हुई प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा

जयपुर से सफेद पाषाण से निर्मित भगवान की प्रतिमा शहपुरा में चल रहे पंचकल्याणक महोत्सव लाई गई। जहां मुनि श्री के सानिध्य में प्रतिमाओं की विधि विधान से प्राण प्रतिष्ठा के उपरांत प्रतिमाएं सिहोरा पहुंची। प्रतिमाएं 1008 श्री पारसनाथ दिगंबर पंचायती जैन मंदिर में विधि विधान के साथ स्थापित की जाएंगी।
Previous Post Next Post