खेतों में पराली जलाने से नष्ट होती है जमीन की उर्वरा क्षमता

खेतों में पराली जलाने से नष्ट होती है जमीन की उर्वरा क्षमता

एसडीएम सिहोरा ने ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों से पराली नहीं जलाने का किया आग्रह, यूरिया और डीएपी के विकल्पों पर किसानों को दी जानकारी

सिहोरा

सिहोरा तहसील के ग्राम गोसलपुर एवं अलगोडा में गुरुवार को अनुविभागीय राजस्व अधिकारी आशीष पांडे ने कृषकों की बैठक लेकर उनसे खेतों में नरवाई न जलाने का अनुरोध किया । उन्होंने किसानों को बताया कि खेत में पराली जलाने से जमीन की उर्वरा शक्ति खत्म होती है साथ ही वातावरण में प्रदूषण भी फैलता है खेती में फसलों को लाभ पहुंचाने वाले कीट मित्र भी खत्म हो जाते हैं। पांडे ने यूरिया एवं डीएपी के उपलब्ध विकल्पों के बारे में किसानों को जानकारी दी तथा उर्वरकों के संतुलित इस्तेमाल की सलाह दी ।

धान उपार्जन के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की किसानों को दी जानकारी

 अनुविभागीय राजस्व अधिकारी ने समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन के लिये की जा रही व्यवस्थाओं से भी किसानों को अवगत कराया तथा उनसे आग्रह किया व्यापारियों या बिचौलियों को इस व्यवस्था का अनुचित लाभ न उठाने दें। यदि ऐसा कोई मामला सामने आता है तो तत्काल इसकी जानकारी तहसीलदार या उन्हें दें ।  पांडे ने चौपाल लगाकर ग्रामीणों से उनकी समस्यायें सुनी । उन्होंने संबंधित अधिकारियों को ग्रामीणों की समस्याओं का निराकरण करने के निर्देशभी दिये । तहसीलदार सिहोरा राकेश चौरसिया भी इस दौरान उनके साथ थे ।
Previous Post Next Post