Ticker

6/recent/ticker-posts

हाई-फाई डिवाइस को प्रशासन ने लगाई आग, रेत माफिया आग बुझा कर ले गए बोट

हाई-फाई डिवाइस को प्रशासन ने लगाई आग, रेत माफिया आग बुझा कर ले गए बोट

मझौली तहसील के खैरी और अघोरा हिरण नदी घाट पर माइनिंग प्रशासन और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई, कई बोट लेकर भाग गए रेत माफिया, मूक दर्शक बना रहा अमला

सिहोरा

माइनिंग राजस्व और पुलिस ने गुरुवार को मझौली तहसील के खैरी और अघोरा  हिरण नदी घाट पर दबिश दी। जहां पर लंबे समय से रेत माफिया रेत के अवैध उत्खनन में लगे थे। संयुक्त कार्रवाई के दौरान अमले ने हिरण नदी के दूसरे घाट पर पहुंचकर एक हाई-फाई डिवाइस में आग लगाकर उसे नष्ट करने का प्रयास किया,। लेकिन रेत माफिया हाई-फाई डिवाइस में लगी आग को बुझा कर ले गए। वही पूरा अमला सिर्फ मूकदर्शक बना रहा। घाट से अमले को डंपर और रेत के अवैध परिवहन में लगे वाहन नहीं मिले। 

माइनिंग इंस्पेक्टर देवेंद्र पटले से हासिल जानकारी के मुताबिक लगातार सूचना मिल रही थी कि मझौली तहसील के खैरी अघोरा हिरण नदी घाट पर हाई-फाई डिवाइस और बोट लगाकर रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है। सूचना पर माइनिंग विभाग के साथ मझौली तहसीलदार प्रदीप मिश्रा मझौली थाने का पुलिस बल दोपहर तीन बजे के लगभग घाट पर पहुंचा। घाट के दूसरी तरफ हाई-फाई डिवाइस लगी बोर्ड और तीन से चार अन्य बोट से रेट निकाली जा रही थी। नदी में अधिक गहराई के कारण अमला बोट से दूसरी तरफ पहुंचा और वहां लगी हाई-फाई डिवाइस में आग लगा दी। कुछ ही देर बाद रेट माफिया के लोग वहां पहुंचे और हाई-फाई डिवाइस में लगी आग को बुझाने लगे और डिवाइस को अपने साथ ले गए। 

खाली हाथ प्रशासन पुलिस और माइनिंग विभाग का अमला

तीन विभागों के इतने बड़े हमले के बावजूद हिरण नदी घाट पर कार्रवाई के बावजूद अमले को कुछ भी नहीं मिला। बल्कि अमले की मौजूदगी में रेत माफिया हाई-फाई डिवाइस में लगी आग को बुझा कर डिवाइस को ले गया। जबकि कार्रवाई से पहले दोनों घाटों पर करीब 8 से 10 बोट लगी हुई थी। रेत माफिया खुलेआम हिरण नदी का सीना चीर कर रेत निकाल रहा था।

रैंप बना कर पाए से निकाली जा रही बड़े पैमाने पर रेत
मझौली तहसील में हिरन नदी का सीना चीरकर रेत माफिया खुलेआम बड़े पैमाने पर रेत निकाल रहा है स्थिति यह है कि करीब 2 दर्जन से अधिक घाटों पर बकायदा रैंप बना कर पाइप के सहारे रेत निकाली जा रही है वहीं पुलिस प्रशासन और माइनिंग विभाग का अमला मूकदर्शक बना हुआ है।