प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण में बच्चों को मिला दोपहर का भोजन

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण में बच्चों को मिला दोपहर का भोजन

सिहोरा

कोरोना काल से स्कूल बंद होने के साथ साथ पका हुआ मध्यान्ह भोजन वितरण बन्द कर दिया था। इसके स्थान पर बच्चों को सूखा अनाज वितरण किया जा रहा था।
बच्चों की पढ़ाई के साथ उनका पोषण भी सुनिश्चित किया जाए और यह देखते हुए यह नई योजना शासकीय स्कूलों में प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के तहत अनेक स्कूलों में पका हुआ मध्यान्ह भोजन का निर्धारित मीनू के अनुसार वितरण शुरू किया गया।वहीं कई स्कूलों में इसे सोमवार या 1 दिसम्बर से प्रारंभ करना कहा गया है। इस सम्बंध में मध्यान्ह भोजन निर्माण करने वाले स्व सहायता समूहों ने कहा है कि अभी किचन शेड की साफ सफाई के साथ साथ, भोजन निर्माण करने की सामग्री इत्यादि का इंतजाम भी करना है, उनका कहना है कि लंबे समय से पका हुआ मध्यान भोजन बंद रहने से गेहूं बीनना छानना एवं पिसवाने, चावल बीनना इत्यादि काम करना पड़ेगा।
गांधीग्राम में पका मध्यान्ह भोजन नही मिला
 संकुल केंद्र कार्यक्रम के अंतर्गत आने वाले एकीकृत शासकीय माध्यमिक शाला गांधीग्राम शासकीय कन्या प्राथमिक शाला गांधीग्राम, प्राथमिक शाला रामपुर, एकीकृत शासकीय माध्यमिक शाला धमकी,माल्हा सहित कई शालाओं में सोमवार से इंतजाम कर पका हुआ भोजन वितरण करने कहा है।कई समूहों का कहना है कि उनके पास गेंहूँ चावल नही है।

 यहां मध्यान्ह भोजन मिला

वही विकासखण्ड सिहोरा की फ़नवानी,मझगवां, मुरता शासकीय शालाओं में बच्चों को पका हुआ मध्यान्ह भोजन वितरण किया गया।वही अभिभावकों का कहना है कि स्वसहायता समूहों इससे स्कूलों में गरीब छात्रों की उपस्थिति बढ़ेगी और उनके शिक्षा और पोषण का विकास होगा। इस योजना के जरिये शिक्षा में ‘सोशल और जेंडर गैप’ समाप्त करने में मदद मिलेगी। अधिकतर बच्चे खाली पेट स्कूल पहुंचते हैं। जो बच्चे स्कूल आने से पहले भोजन करते हैं उन्हें भी दोपहर तक भूख लग आती है और वे अपना ध्यान केन्द्रित नहीं कर पाते हैं। मध्याह्‌न भोजन बच्चों के लिए ''पूरक पोषण'' के स्रोत और उनके स्वस्थ विकास के रूप में भी कार्य कर सकता है।  क्योंकि कक्षा में विभिन्न सामाजिक पृष्ठभूमि वाले बच्चे साथ में बैठते हैं और साथ-साथ खाना खाते हैं। विशेष रूप से मध्याह्‌न भोजन स्कूल में बच्चों के मध्य जाति व वर्ग के अवरोध को मिटाने में सहायता कर सकता है
Previous Post Next Post