48 घंटे की लंबी खोजबीन के बाद हिरण नदी में मिला महिला का शव

48 घंटे की लंबी खोजबीन के बाद हिरण नदी में मिला महिला का शव

सोमवार शाम महिला ने पति से विवाद के बाद 40 फुट ऊंचे पुल से लगा दी थी

एनडीआरएफ और स्थानीय गोताखोरों ने बुधवार दोपहर नदी से निकाला लाश


मझौली

मझौली थाना अंतर्गत इंद्राना बस्ती में सोमवार की शाम को सिंगलदीप-इंद्राना मार्ग पर बने हिरण नदी के 40 फुट ऊंचे पुल से छलांग लगाने वाली रीना चक्रवर्ती की क्षत-विक्षत लाश करीब 48 घंटे की लंबी कोशिश के बाद एनडीआरएफ और स्थानीय गोताखोरों ने बुधवार दोपहर खोज ली। लाश को मछलियों ने क्षत विक्षत हालत में कर दिया था। पंचनामा कार्रवाई के बाद पुलिस ने महिला के शव को  पोस्टमार्टम के लिए मझौली सीएचसी भेज दिया। 


 यह था पूरा घटनाक्रम

पुलिस से हासिल जानकारी के मुताबिक इंदिराना बस्ती नद्दी मोहल्ला निवासी रीना चक्रवर्ती (32) का अपने पति अखिलेश चक्रवर्ती से किसी बात को लेकर सोमवार को विवाद हो गया था। जिसके बाद वह घर से गायब हो गई थी। शाम तक रीना के घर नहीं लौटने पर परिजनों ने मझौली थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। मंगलवार की सुबह जानकारी लगी कि रीना की साड़ी हिरण नदी के पुल के पास पड़ी है। परिजनों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी और ऐसी संभावना जताई गई कि रीना ने हिरण नदी के पुल से छलांग लगा दी है। जिसके बाद स्थानीय गोताखोरों ने जाल और कांटा डालकर महिला की हिरण नदी में खोजबीन शुरू की, लेकिन मंगलवार को महिला का कोई भी सुराग नहीं लगा। अलबत्ता महिला की चप्पल और शॉल जरूर कांटे में फस कर बाहर आ गई।

दूसरे दिन पहुंची एनडीआरएफ की टीम और स्थानीय गोताखोरों ने महिला की शुरू की खोजबीन

बुधवार सुबह एनडीआरएफ की टीम जबलपुर से हिरण नदी घाट पर पहुंची और स्थानीय गोताखोरों के साथ हिरण नदी की गहराई में महिला की खोजबीन शुरू कर दी। दोपहर करीब 12:30 से 1:00 बजे के लगभग हिरण नदी के घाट की कुछ ही दूरी पर महिला का शव एनडीआरएफ और स्थानीय गोताखोरों की टीम ने खोज निकाला। महिला का शव बुरी तरह क्षत-विक्षत हालत में निकाला गया। जिसे देखते ही पति अखिलेश और परिवार के लोग हतप्रभ रह गए। पंचनामा कार्रवाई के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए पुलिस ने मझौली हॉस्पिटल भेज दिया, जहां दोपहर बाद महिला का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।
Previous Post Next Post