हरसिंघी खरीदी केंद्र में लुट गए 57000 बारदाने !

हरसिंघी खरीदी केंद्र में लुट गए 57000 बारदाने !

जिन किसानों को पहले मैसेज आए उन्हें नहीं मिला बारदाना, रसूखदार लोग ट्रैक्टर में बारदाना लूटकर ले गए अपने घर

मूर्ख दर्शक बने रहे जिम्मेदार अधिकारी नहीं हुई कोई भी एफ आई आर

सिहोरा

मझौली तहसील के लखनपुर खरीदी केंद्र के उप केंद्र क्रमांक दो हरसिंघी में बारदाना लूटे जाने का मामला सामने आया है। सूत्रों की माने तो खरीदी केंद्र में चार दिन पहले खरीदी के लिए बार दाने आए थे। मंगलवार से संबंधित खरीदी केंद्र में खरीदी का काम शुरू हो गया, लेकिन इस बीच केंद्र में रखे करीब 57700 बारदाना रसूखदार लोग अपने ट्रैक्टर पर लोड कर घर ले गए। जबकि इन रसूखदार लोगों को धान खरीदी का कोई भी मैसेज नहीं आया था। ऐसे में उन किसानों को बारदाना नहीं मिला जिन्हें खरीदी के मैसेज आ गए थे। यह पूरा वाक्य जिम्मेदार अधिकारियों के सामने हुआ इसके बावजूद ना तो उन रसूखदार लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई हुई और न ही विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने उनके विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराई। 


जानकारी के मुताबिक हरसिंगी खरीदी केंद्र में धान खरीदी के लिए आए बार दानों को रसूखदार लोगों ने लूट लिया। इन रसूखदार लोगों ने बारदाना की गठान को ट्रैक्टर में लोड किया और अपने घर ले गए। यह लूट का कारनामा विभाग के जिम्मेदार अधिकारी खरीदी प्रभारी और ऑपरेटर के सामने हुआ, लेकिन किसी ने भी और रसूखदार किसानों को बारदाना ले जाने से नहीं रोका।

जिन किसानों को पहुंचे मैसेज वह भटकते रहे बारदाने के लिए

सूत्रों की माने तो मंगलवार से शुरू हुई केंद्र में धान खरीदी के लिए किसानों को अपनी उपज लाने ऑपरेटर द्वारा मैसेज भेज दिए गए थे। संबंधित किसान अपनी उपज लेकर जब केंद्र में पहुंचा तो उन्हें बारदाना ही नहीं मिले। ऐसे में किसान एक एक बारदाने के लिए यहां से वहां भटकता रहा। जबकि रसूखदार लोगों ने अपने घरों में बारदाने की पूरी गठान रख ली थी।


मौके पर पहुंचे अधिकारी लेकिन वह भी सिर्फ मुंह दिखाई के लिए

हरसिंगी खरीदी केंद्र में गुरुवार को मझौली तहसील की नायब तहसीलदार पूजा बोरहरे, आरआई रामजी तिवारी केंद्र में पहुंचे वहां कई किसानों ने अधिकारियों को बताया कि यहां आए बार दाने रसूखदार किसानों ने लूट लिए लेकिन अधिकारी सिर्फ यह जानकारी लेते नजर आए कि यहां खरीदी चल रही है या नहीं। इसके बाद संबंधित खरीदी केंद्र के ऑपरेटर जो कि एक महिला थी उससे जब इस संबंध में जानकारी ली गई तो उन्हें चक्कर आ गया। वह किसी भी जानकारी को अधिकारी के सामने पेश नहीं कर पाए आपको बताते चलें कि इस खरीदी केंद्र में एक महिला ऑपरेटर है लेकिन ऑपरेटिंग का पूरा काम उसका पति कर रहा है। बारदाना लूटे जाने की घटना को खरीदी केंद्र का प्रभारी दबी जुबान में स्वीकार कर रहा था लेकिन सामने कुछ भी बोलने से बचता रहा।
Previous Post Next Post