कबाड़ बिक्री के 80 हजार के बंटवारे को लेकर निगम के अतिक्रमण शाखा में मचा घमासान

बिलासपुर। नगर निगम के अतिक्रमण शाखा में कबाड़ बिक्री के 80 हजार रुपये के बंटवारे को लेकर घमासान मचा है। जिनको हिस्सा नही मिला वे कर्मचारी हल्ला मचा रहे।
         नगर  निगम और यातायात पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई कर पिछले दिनों दुकानों के बाहर और फुटपाथ कारोबारियों का सामान जब्त किया था। जब्त सामान में लोहे का काउंटर, बोर्ड, एंगल, दुकानों के सामने रखा प्लास्टिक के डमी पुतले को पम्प हाउस और राघवेंद्र राव सभा भवन के पीछे गोदाम में डम्प कराया गया था। जो व्यापारी सामान छुड़ाने आये उनसे सौदा कर रकम लेकर बिना रसीद के सामान को वापस कर दिया गया। इसके बाद जो सामान बच गए उन्हें विभाग के काउ कैचर में पहले पम्प हाउस और फिर राघवेंद्र राव सभा भवन के पीछे गोदाम से भरवाकर सीधे मोपका शहरी गोठान भेजा गया। सूचना पर शहर का कबाड़ कारोबारी स्वराज माजदा में कांटा बॉट लेकर शहरी गोठांन पहुचा। अतिक्रमण प्रभारी के लग्गु भग्गू कर्मचारियों की मौजूदगी में तौल हुआ। बताया जाता है कि जब्त कबाड़ 80 हजार में बिका।
प्रभारी के पोसवा कर्मचारियों ने नियमित और टास्क कर्मचारियों को उनका मुह बन्द कराने के लिए 100-100 रुपये दे दिया। लेकिन पुराने घाघ कर्मचारियों ने 100-100 रुपये लेने से इनकार कर रकम लौटा दी।
      इसके बाद कुछ कर्मचारियों ने राघवेंद्र राव सभा भवन में पी खाकर हल्ला मचाना शुरू कर दिया।
 
महापौर का तक खौफ नही
निगम के मुखिया महापौर रामशरण यादव और उनके खास समर्थको का राघवेंद्र राव सभा भवन में रोज सुबह जमघट लगताहै। निगम के अतिक्रमण शाखा के इन घाघ कर्मचारियों को महापौर का तक डर नही है।

 देर रात तक हो रहा लेनदेन

बताया जाता है कि अतिक्रमण शाखा के मुंहलगे कर्मचारियों ने 2-2 टास्क कर्मचारियों को अपना सुपरवाइजर बना रखा है। 4 रो के पास गोदाम की चाबी है जो देर रात तक पीछे डेरा डाल लेनदेन कर जब्त सामान को वापस और बेच रहे है।
Previous Post Next Post