सिहोरा पहुँचकर कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक.

सिहोरा पहुँचकर कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक.
राजस्व प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की पटवारी हल्कावार की समीक्षा.
परफार्मेंस को बेहतर बनाने के दिये निर्देश

सिहोरा

राजस्व विभाग के कामकाज की समीक्षा करने आज बुधवार को सिहोरा पहुँचे कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने सिहोरा तहसील में पदस्थ सभी राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर भू-अभिलेखों के शुद्धिकरण सहित राजस्व प्रकरणों के निराकरण के लिये चलाये जा रहे अभियानों में परफार्मेंस को बेहतर बनाने के निर्देश दिये हैं ।
     श्री शर्मा ने बैठक में शुद्धिकरण अभियान में प्राप्त प्रकरणों एवं सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों के निराकरण की स्थिति तथा स्वामित्व एवं धारणाधिकार योजना की प्रगति की पटवारी हल्कावार समीक्षा की । तहसील कार्यालय के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में अपर कलेक्टर सुश्री विमलेश सिंह, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी आशीष पांडे, अधीक्षक भू-अभिलेख ललित ग्वालवंशी एवं तहसीलदार राकेश चौरसिया भी मौजूद थे ।
         कलेक्टर ने बैठक में नामान्तरण, बंटवारा एवं सीमांकन के अविवादित प्रकरणों का निराकरण को प्राथमिमता देने के निर्देश देते हुये राजस्व अधिकारियों से कहा कि ऐसे प्रकरणों में पटवारियों से प्रतिवेदन प्राप्त होने के सात दिन के भीतर आदेश जारी कर दिये जायें,  ताकि आवेदकों को अनावश्यक भटकना न पड़े । श्री शर्मा ने स्वामित्व योजना के तहत सिहोरा तहसील के ग्रामीण क्षेत्र में आबादी भूमि के हुये सर्वे कार्य का ब्यौरा भी लिया । उन्होंने कहा कि शासन की प्राथमिकता वाली इस योजना में  ग्राउंड ट्रुथिंग, नक्शों का प्रारूप प्रकाशन एवं दावे आपत्तियों के निराकरण की कार्यवाही शीघ्र पूरी कर ली जाये, ताकि अंतिम प्रकाशन करने के बाद ग्रामीणों को उनके स्वामित्व की भूमि के अधिकार पत्र प्रदान किये जा सके । 
         कलेक्टर ने बैठक में सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त प्रकरणों का एल-वन स्तर पर ही निराकरण करने की हिदायत राजस्व अधिकारियों को दी । उन्होंने सौ दिन से अधिक समय से लंबित प्रकरणों के निराकरण को प्राथमिकता देने के निर्देश देते हुये कहा कि शिकायतों का निराकरण आवेदक की संतुष्टि के साथ ही किया जाना चाहिये ।
         श्री शर्मा ने राजस्व वसूली में गति लाने के निर्देश भी राजस्व अधिकारियों को दिये । उन्होंने कहा कि बडे बकायादारों से वसूली में सख्ती बरती जाय । बड़े बकायादारों से पहले चर्चा कर उन्हें बकाया चुकाने की समझाइश दी जाये । इसके बाद भी यदि वे बकाया जमा नहीं करते हैं तो उन्हें नोटिस जारी किये जायें तथा जरूरत होने पर कुर्की की कार्यवाही भी करें । उन्होंने अतिक्रमण की शिकायतों पर भी तत्काल कार्यवाही करने तथा अतिक्रामको पर प्रकरण दर्ज करने एवं जुर्माना लगाने के निर्देश भी दिये ।
         श्री शर्मा ने बैठक में मौजूद पटवारियों से राजस्व शुद्धिकरण अभियान में प्राप्त प्रकरणों के निराकरण में आ रही कठिनाइयों की जानकारी भी ली । उन्होंने पटवारियों को गम्भीरता से अपने दायित्वों का निर्वाह करने की हिदायत देते हुये कहा कि वे अपने कार्यक्षेत्र का नियमित रूप से भ्रमण करें तथा ग्रामीणों से सतत सम्पर्क में रहकर राजस्व विभाग से  सबंधित उनकी समस्याओं का निराकरण करें । उन्होंने राजस्व अधिकारियों से भी कहा कि अपने अधीनस्थ पटवारियों से उनके कामकाज की प्रतिदिन की रिपोर्ट लें और नियमित तौर पर समीक्षा करें ।     
धान उपार्जन केंद्रों पर रखे नजर :-
कलेक्टर श्री शर्मा ने बैठक में राजस्व अधिकारियों को किसानों से समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन के लिये बनाये गये केंद्रों पर लगातार नजर बनाए रखने के निर्देश दिये । उन्होंने कहा कि खरीदी केंद्रों पर  किसानों को किसी तरह की परेशानी नही होनी चाहिये । खरीदी वास्तविक किसानों से ही हो । श्री शर्मा ने कहा कि किसानों की आड़ में बिचौलिये या व्यापारी उपार्जन व्यवस्था का अनुचित लाभ न उठा पाये इसके पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित किये जायें । उन्होंने जिले के बाहर से वाहनों में आने वाली धान की जांच करने तथा संदिग्ध पाये जाने पर वाहन सहित उसकी जप्ती बनाने के निर्देश भी दिये । कलेक्टर ने गोदामों एवं भंडारण स्थलों पर भी धान के स्टॉक का सत्यापन करने के निर्देश राजस्व अधिकारियों को बैठक में दिये ।
Previous Post Next Post