रोड नहीं तो वोट नहीं' रोड बनने तक किसी भी राजनीतिक पार्टी के जनप्रतिनिधियों का गांव में प्रवेश वर्जित'

'रोड नहीं तो वोट नहीं' रोड बनने तक किसी भी राजनीतिक पार्टी के जनप्रतिनिधियों का गांव में प्रवेश वर्जित'

ग्राम पंचायत झिंगरई के ग्रामीणों का पंचायत चुनाव के बहिष्कार का निर्णय

जनपद पंचायत मझौली का मामला : घाट सिमरिया से झिंगरई गांव तक डेढ़ किलोमीटर रोड नहीं बनी 50 सालों से

 सांसद-विधायक को कई बार दिया आवेदन लेकिन नहीं बन पाई पक्की रोड 

सिहोरा एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर बताइए अपनी  समस्या
मझौली

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के बीच जनपद पंचायत मझौली की की ग्राम पंचायत झिंगरई के ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार का ऐलान कर दिया है। मतदान बहिष्कार को लेकर ग्रामीणों ने जगह-जगह फ्लेक्स और बैनर भी लगा दिए जिसमें लिखा है  'रोड नहीं तो वोट नहीं' रोड बनने की तिथि तक किसी भी राजनीतिक पार्टी के जनप्रतिनिधियों का गांव में प्रवेश वर्जित है।  ग्रामीणों ने सोमवार को सिहोरा एसडीएम आशीष पांडे को ज्ञापन सौंपकर मतदान बहिष्कार की जानकारी दी।

50 साल में नहीं बन पाई डेढ़ किलोमीटर सड़क, इसलिए ग्रामीणों ने किया चुनाव बहिष्कार का निर्णय

ग्राम के निरंजन पटेल, आनंद श्रीवास, अर्जुन पटेल, दीनदयाल पटेल, मुन्नालाल रामप्रसाद, सुखचैन प्रसाद, राजेश पटेल, मुकेश पटेल, संतोष पटेल, कमलेश पटेल, मनीष पटेल, बृजमोहन, भारत लाल ने बताया कि घाट सिमरिया से ग्राम पंचायत झिगरई को जोड़ने वाली डेढ़ किलोमीटर सड़क 50 सालों से नहीं बन पाई है। सड़क नहीं बनने से गर्भवती महिलाओं को बारिश के समय कीचड़ के बीच डेढ़ किलोमीटर एंबुलेंस तक पहुंचना पड़ता है। यह स्थिति हर साल बनती है रोड बनाने की मांग को लेकर उन्होंने सांसद विधायक तक को कई बार आवेदन दिया लेकिन इसके बावजूद गांव को जोड़ने वाली सड़क आज तक नहीं बन पाई। जिसको लेकर पूरे गांव में भारी आक्रोश है सारे गांव के लोगों का एक मत है कि वह इस बार के ग्राम पंचायत चुनाव में मतदान का बहिष्कार करेंगे। 

पूरे गांव में लगाए मतदान बहिष्कार और जनप्रतिनिधियों के रोड बनने तक प्रवेश वर्जित के चिपकाए बैनर एवं होर्डिंग

गांव को जोड़ने वाली सड़क नहीं बनने को लेकर ग्रामीणों में कितना आक्रोश है इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार को लेकर गांव के खंभों पर जगह-जगह बैनर और फ्लेक्स्टेक लगा दिए। फ्लेक्स में साफ लिखा है कि रोड नहीं बनने तक जनप्रतिनिधियों का प्रवेश पूरी तरह वर्जित रहेगा। 

चुनाव बहिष्कार को लेकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

रोड नहीं बनने से आक्रोशित  ग्रामीणों प्रशांत, अश्विनी पटेल, आनंद, अरविंद पटेल, राजेंद्र प्रसाद रामबली अनिल बर्मन कैलाश प्रसाद बर्मन मुन्नालाल रामकृपाल सहित अन्य ग्रामीणों ने ने सोमवार को से हुए एसडीएम आशीष पांडे को ज्ञापन सौंपकर चुनाव के बहिष्कार की सूचना दी। 

क्या कहते हैं जिम्मेदार

ग्राम पंचायत झिंगरई के ग्रामीणों ने रोड नहीं बनने पर चुनाव के बहिष्कार को लेकर ज्ञापन सौंपा है। रोड नहीं बनने को लेकर क्या समस्या है इसको लेकर मामले की जानकारी सीईओ जनपद पंचायत मझौली सूचना दी गई है। प्रयास रहेगा कि ग्रामीणों की समस्याओं का जल्द से जल्द निराकरण हो और ग्राम पंचायत के चुनाव में गांव के लोग वोट डालें ।

आशीष पांडे, एसडीएम सिहोरा
Previous Post Next Post