गमगीन माहौल में गांव पहुंचे पति-पत्नी के शव, बड़े भाई के बेटे ने दी मुखाग्नि

गमगीन माहौल में गांव पहुंचे पति-पत्नी के शव, बड़े भाई के बेटे ने दी मुखाग्नि

रामनगर दोहरा हत्याकांड : पति की मौत के बाद इलाज रथ पत्नी ने मेडिकल अस्पताल में तोड़ा दम


हत्याकांड के दोनों मुख्य आरोपियों को गोसलपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार, न्यायालय ने भेजा जेल


सिहोरा

गोसलपुर थाना अंतर्गत रामनगर गांव में शुक्रवार शाम किसान लाला कोल(45) की कुल्हाड़ी से हुई हत्या के बाद गंभीर रूप से घायल उसकी पत्नी वर्षा कोल (40) ने शनिवार सुबह इलाज के दौरान मेडिकल में दम तोड़ दिया। पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव दोपहर बाद रामनगर गांव पहुंचे, जहां गमगीन माहौल में मृतक लाला के बड़े भाई के बेटे धन्नी गोटिया ने दोनों को मुखाग्नि दी। 

यह थी पूरी घटना

रामनगर गांव के लाला कोल और उसकी पत्नी वर्षा कोल शुक्रवार शाम को खेत में बाड़ी लगा रहे थे। उनके खेत के बाजू में दीपू कोल का खेत लगा था। इसी दौरान दीपू और उसका साथी दीपक वहां पहुंचे। खेत पर बाड़ी लगाना दीपू को रास नहीं आया। इसी के चलते दीपू ने विवाद शुरू कर दिया और लाला और उसकी पत्नी पर राज और कुल्हाड़ी से सिर पर हमला कर दिया। अत्यधिक खून बह जाने के कारण लाला की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं गंभीर रूप से घायल वर्षा को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया जहां शनिवार को इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया।

पुलिस ने पूरे मामले का किया खुलासा दोनों आरोपी गिरफ्तार, हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी जप्त

दोहरे हत्याकांड में गोसलपुर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए 24 घंटे के अंदर पूरे मामले का खुलासा कर दिया। एसडीओपी सिहोरा श्रुतकीर्ति सोमवंशी ने बताया कि हत्या के मामले में दोनों मुख्य आरोपी गांधी उर्फ दिप्पू दीपक कोल पिता चुन्नू कोल (18) निवासी ग्राम रामनगर (मढोद) थाना गोसलपुर और दीपक कोल पिता स्वर्गीय नंदकिशोर कोल (28) निवासी शंकर नगर सुहागी अधारताल हाल निवास रामनगर मढोद को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी और रॉड को जप्त कर लिया है। आरोपियों की गिरफ्तारी में गोसलपुर थाना के उप निरीक्षक पुष्कर मिश्रा, दीपू कुशवाहा, सतीश अनुरागी, कार्यवाहक उप निरीक्षक विनोद बागरी, सहायक उप निरीक्षक आरपी चौधरी, राजेश मिश्रा, आरक्षक सत्येंद्र बिसेन, समर सिंह, अवधेश,मनीष,  नेमचंद, भारत, अमन सिंह, रिंकेश सहित साइबर सेल टीम की उल्लेखनीय भूमिका रही।  आरोपियों के खिलाफ धारा 294, 307, 302 का मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया। जहां से न्यायालय ने दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया। 


इनका कहना 

दोहरे हत्याकांड के मामले में दोनों आरोपियों को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपितों के खिलाफ 302 का मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से न्यायालय ने दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया।

श्रुति कीर्ति सोमवंशी, एसडीओपी सिहोरा
Previous Post Next Post