मझौली में 100 बेड्स का कोविड केयर सेंटर तैयार, 22 में सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन की सुविधा

मझौली में 100 बेड्स का कोविड केयर सेंटर तैयार, 22 में सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन की सुविधा


तीसरी लहर की तैयारी : लकमना-इंद्राना  पीएचसी में 2-2 कोविड बेड बनकर तैयार, होम आइसोलेशन को तोड़ने वालों को सीधे किया जाएगा भर्ती

मझौली

कोविड-19 की तीसरी लहर में लगातार तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए अब शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोविड-19 वार्ड बनाने का काम तेजी से चल रहा है। इसी क्रम में मझौली तहसील में 100 कोविड केयर बेड्स बनकर तैयार हो गए। कोविड केयर वॉर्ड में कोविड-19 के उन मरीजों को भर्ती किया जाएगा जो होम आइसोलेशन को फॉलो नहीं कर रहे हैं। 


25 बेड सीधे सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन से जुड़े

मझौली बीएमओ डॉ पारस ठाकुर ने बताया कि कोविड-19 की तीसरी लहर के बीच ग्रामीण क्षेत्रों में निकलने वाले कोरोना के मरीजों को कोविड-19 केयर वार्ड में सीधी भर्ती किया जाएगा। हंड्रेड बेड्स के कोविड-19 वार्ड में 20 बेड सीधे सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन से जुड़े हुए हैं। ऐसे गंभीर मरीज जिनको ऑक्सीजन की तुरंत आवश्यकता है उन्हें सीधे ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी। आईटीआई मझौली में 50 और कन्या छात्रावास में 50 कोविड-19 बेड्स तैयार कर लिए गए। जिनमें दवाइयों के साथ सारी सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी।


लमकना और इंदिराना पीएचसी में दो-दो बेड्स तैयार

जानकारी के मुताबिक कोविड-19 की लहर को देखते हुए मझौली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जुड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इंद्राना में दो कोविड केयर बेड्स बनाए गए हैं जहां डॉ रूपम पटेल कोविड-19 के मरीजों को भर्ती करेंगे। वही लमकना पीएचसी में दो कोविड बेड की सारी व्यवस्थाएं डॉ देवाशीष देखेंगे। 


ये रहेंगी सारी सुविधाएं

मरीजों को सीधे ऑक्सीजन दी जा सकेगी

उनके खाने की सारी व्यवस्थाएं और दवाइयां


इसके अलावा सीवीसी, बायो एनालाइजर की सुविधा उपलब्ध रहेगी


मरीज की स्थिति यदि गंभीर होने पर एक्स-रे की जरूरत पड़ी तो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से डिजिटल एक्स-रे मरीज करा सकता है

आइसोलेशन के नियम तोड़ने वाले मरीजों को सीधे भर्ती किया जाएगा
Previous Post Next Post