थाना सिहोरा अंतर्गत बाबाताल के सामने मोटर सायकिल सवार के साथ हुई 4 लाख 84 हजार रूपये की सनसनीखेज लूट की घटना का खुलासा, 6 आरोपी गिरफ्तार

थाना सिहोरा अंतर्गत बाबाताल के सामने मोटर सायकिल सवार के साथ हुई 4 लाख 84 हजार रूपये की सनसनीखेज लूट की घटना का खुलासा,  6 आरोपी गिरफ्तार

छीने हुये 4 लाख 84 हजार रूपये, घटना में प्रयुक्त मोटर सायकिल, अल्टो कार, देशी 1 पिस्टल, 1 जिंदा कारतूस एवं घटना के वक्त कब्जे में रखे 6 मोबाईल, जप्त

घटना की जानकारी लगते ही पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा पहुंचे थे घटना  स्थल, मौके पर उपस्थित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपियों की पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तारी हेतु किया था आदेशित

नाम पता गिरफ्तार आरोपी-
1. सत्यम उर्फ ब्रजेश राजपूत पिता स्व. उमाशंकर राजपूत उम्र 23 वर्ष निवासी बरौदा थाना सिहोरा  
2. अजय गर्ग पिता अश्वनी कुमार गर्ग उम्र 32 वर्ष निवासी ग्राम बरौदा  थाना सिहोरा  
3. मंजू यादव पिता पच्चीलाल यादव उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम  बरौदा थाना सिहोरा  
4. सौरभ पटैल पिता धरमू प्रसाद पटैल उम्र 20 वर्ष निवासी विष्णु मंदिर के पास मझौली हाल मनगवा थाना मझौली  
5. सत्यम सिह राजपूत पिता गुलाब सिह राजपूत उम्र 25 वर्ष निवासी वार्ड न 06 खिरवा थाना मझौली    
6. साहिल पटैल पिता स्व. सुनील कुमार पटैल उम्र 21 वर्ष निवासी ग्राम सि हौदा थाना मझौली जिला जबलपुर  
 जप्ती - लूटी गई रकम 04 लाख 84 हजार रूपये, घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल पेशन प्रो क्रमांक एमपी 19 एमएफ 9745, एक देशी पिस्टल, एक जिंदा कारतूस एक आल्टो कार एमपी 20 सी.एल. 4320, एवं 06 मोबाइल जप्त।

             थाना सिहोरा अंतर्गत बाबाताल के सामने दिनॉक 4-1-22 को लूट होने की सूचना पर पहुंची पुलिस को मंजू यादव उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम बरोदा ने बताया कि वह आजाद चौक स्थित पियूष गुप्ता की किराना दुकान में काम करता है, पियूष गुप्ता द्वारा दिये हुये 4 लाख 84 हजार रूपये एक बैग में रखकर बैग को कंधे मे टांग कर मोटर सायकिल से आईसीआईसीआई बैंक रूपये जमा करने जा रहा था, जैसे ही बाबा ताल के सामने पहुंचा एक ब्लैक कलर की पैशन मोटर सायकिल में 2 व्यक्ति पीछा करते हुये आये और बराबरी से मोटर सायकिल सटा दिये, पीछे बैठे व्यक्ति ने चाकू से कंधे मे टंगी बैग की बद्धी काट कर बैग छीन लिया एवं दोनो मोटर सायकिल से भागने लगे उसने पीछा किया तो एक हवाई फायर किये वह डरकर रूक गया तो दोनो  जबलपुर- कटनी नेशनल हाईवे रोड तरफ भाग गये। मोटर सायकिल मे नम्बर नहीं डला हुआ था। बैग में नगद 4 लाख 84 हजार रूपये, अधारकार्ड, पैन कार्ड, एसबीआई एंव आईसीसीआईसीआई के एटीएम कार्ड, गाडी का रजिस्ट्रेशन कार्ड आदि रखे थे।

                 घटित हुई घटना की जानकारी लगते ही, एस.डी.ओ.पी. सिहोरा श्री श्रुतकीर्ति सोमवंशी (भा.पु.से.), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री शिवेश सिह बघेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध श्री गोपाल खाण्डेल, तथा पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) मौके पर पहुंचे। मौके से चला हुआ एक खोखा जप्त करते हुये थाना सिहोरा में धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
                   पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) ने फरियादी मंजू यादव से घटित हुई घटना के सम्बंध में विस्तार से चर्चा करते हुये घटना स्थल पर उपस्थित अधिकारियों के साथ घटना स्थल का निरीक्षण किया, एवं मौके पर उपस्थित अधिकारियों को अज्ञात मोटर सायकिल सवार लुटेरो की पतासाजी के सम्बंध मे निर्देशित करते हुये शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया, आदेश के परिपालन मे थाना प्रभारी सिहोरा श्री गिरीश धुर्वे के नेतृत्व में थाना स्टाफ एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित कर लगायी गयी।

                  गठित टीमों के द्वारा सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए, पूर्व में पकड़े गए सम्पत्ति संबंधी अपराधियों से पूछताछ की गई। दौरान तलाश पतासाजी के विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम बरोदा सिहोरा निवासी सत्यम राजपूत जो कि मंजू यादव का दोस्त है, लुक छिप कर घूम रहा है,  एवं अपनी मोटर साईकिल पेशन प्रो  को भी झिपाकर रखा है, यह जानकारी लगते ही सत्यम पिता स्व. उमांशकर राजपूत उम्र 23 वर्ष निवासी ग्राम बरोदा थाना सिहोरा को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेते हुये सघन पूछताछ की गई, प्रारम्भिक पूछताछ पर गुमराह करता रहा। मिले साक्ष्यों के आधार पर सघन पूछताछ करने पर  बताया कि गॉव का मंजु यादव, आजाद चौक स्थित  पियूष गुप्ता की पियूष ट्रेडर्स किराना दुकान में काम करता है, मंजु ने बताया था कि  उसके मालिक पियूष गुप्ता उस पर बहुत विश्वास करते हैं, 2-3  दिन में  उसे किराना दुकान से 04 से 05 लाख रूपये देकर बैक में जमा करने हेतु भेजते हेै क्यों न एक योजना बनाई जाये जो रूपये मै बैंक में जमा करने के लिये जाता हूॅ रास्ते में तुम लोग मुझसे वो रूपये लूट लो, बाद में हम लोग आपस में उन रूपयों को बांट लेंगे। मंजु यादव ने गॉव में ही गॉव के अजय गर्ग, मझौली के साहिल पटेल,   सौरभ पटेल तथा अपने मझोली निवासी अपने मौसेरे भाई सत्यम सिंह राजपूत के साथ मिलकर स्वयं के साथ लूट किये जाने की योजना बनाई थी।

                योजना के मुताबिक दिनांक 03.01.2022 को  हम सभी घटना को अंजाम देने गये थे, सत्यम राजपूत ने मंजू यादव को मोबाईल लगाकर बात की तो मंजू यादव ने बताया कि पियूष भैया आज जमा करने के लिये रूपये नहीं भेज रहे है। योजना के अनुसार कल लूट की घटना को अंजाम देंगे।  

                  योजना के मुताबिक दिनांक 04.01.2022 को सुबह 10-30 बजे वह अपनी मोटर साईकिल में अजय गर्ग को पीछे बैठ़ाकर मझोली बाईपास पहुंचा, वहॉ पर पहले से साहिल पटेल, उसका मौसेरा भाई सत्यम राजपूत, सौरभ पटेल आल्टो कार में बैठे हुये हमारा इंतजार करते हुये मिले,  सुबह लगभग 11 बजे मंजू यादव ने मोबाईल पर बताया कि वह पैसे लेकर दुकान से निकल रहा है, तो वह अजय गर्ग के साथ पुराना बस स्टैण्ड सिहोरा पहुंचा कुछ ही देर बाद मंजू यादव सामने से मोटर सायकिल से निकला जिसका पीछा किये , मंजू यादव जैसे ही बाबा ताला मंदिर के सामने पहुंचा, योजनानुसार अजय गर्ग ने पास में रखे चाकू से बैग की बद्धी को काटा और बैग छीनकर भागे, अजय गर्ग ने  कुछ दूर आगे जाकर पास में रखी पिस्टल से जमीन में फायर कर दिया, योजना के अनुसार मंजू यादव ने कुद दूर तक पीछा किया और रूक गया, हम लोग भाग कर पौडा रोड पर पहुंचे जहॉ पहले संे कार में बैठकर साहिल , सौरभ, एवं उसका मौसेरा भाई सत्यम इंतजार कर रहे, से बताया कि काम हो गया है, हम दोनों मोटर सायकिल से तथा कार में सवार तीनों लोग  मझोली पहुंचे , मझोली में उसने अपने मौसेरे भाई के सत्यम सिंह राजपूत के घर पर अपनी मोटर सायकिल छिपा दी तथा छीने हुये रूपये साहिल के घर में छिपाकर सभी अल्टो कार से वापस                 सिहोरा आये कुछ देर रूकेने बाद सभी योजना के अनुसार कटंगी बाईपास होते हुये गुबरा दमोह पहुंचे जहॉ ढाबे में सभी ने खाना खाया, खाना खाने के बाद सभी देर रात मझोली होते हुये ग्राम सिहोदा पहुंचकर छीने हुये रूपये आपस में बांट लिये थे।                          
             गठित टीम के द्वारा सरगर्मी से तलाश करते हुये अजय गर्ग निवासी ग्राम बरोदा, सौरभ पटेल निवासी विष्णु मंदिर से पास मझौली, मौसेरे भाई सत्यम राजपूत निवासी खिरवा मोहल्ला, साहिल पटेल निवासी ग्राम सिंहोदा तथा मंजु यादव निवासी ग्राम बरोदा को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेते हुये पूछताछ कर पकड़े गये आरोपियों की निशादेही पर  घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल एमपी19 एमएफ 9745, एक देशी पिस्टल एवं एक जिन्दा कारतूस, चाकू, आल्टो कार क्रमांक एमपी 20 सीएल 4320 तथा छीने हुये 04 लाख 84 हजार रूपये तथा घटना के वक्त कब्जे मे रखे हुये 6 मोबाईल जप्त करते हुये आरोपियों को प्रकरण में विधिवत् गिरफ्तार कर दिनांक 09.01.2022 को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जावेगा।

 उल्लेखनीय भूमिका- आरोपियेां की पतासाजी कर गिरफ्तारी करने में उप पुलिस अधीक्षक अपराध श्री प्रभात शुक्ला,   थाना प्रभारी  सिहोरा श्री गिरीश धुर्वे, उप निरीक्षक महेन्द्र जाटव, उप निरीक्षक अमजद खान , उप निरीक्षक सैय्यद इकबाल, सहायक उप निरीक्षक आदित्य , रंजीत सिह, लालबहादुर , प्रधान आरक्षक रामासिह  धुर्वे, थाना खितौला के आरक्षक अमित, आरक्षक  नीरज चौरसिया, आरक्षक  ओम प्रकाश दुबे ,   परमजीत यादव , राजीव  यादव, राकेश कुमार, लक्ष्मी पटेल, राहुल पटेल, संतोष यादव, हेमंत शर्मा, रमेश , प्रदीप  पटेल ,  राजीव यादव , कृष्ण कुमार,  संजीत मेश्राम, संत कुमार, आशीष ,  नरेश गुप्ता, संतोष भालेकर,  रोहित जैन, शुभम मिश्रा ,  जितेन्द्र बागरी,  धनेश्वर सिगौर, राजेश पटेल, सुनील कौशल, राधेश्याम तथा, क्राइम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक   धनजंय सिह , सउनि मृदलेश शर्मा, सउनि रामसनेही शर्मा, प्रधान आरक्षक बृजेन्द्र सिह कृसाना, रामसहाय, अजीत पटैल मानस उपाध्याय ,अनूप सिह आरक्षक मोहित उपाध्याय, वीरेन्द्र सिह , खेमचंद प्रजापति, आरक्षक शेषनारायण राय, प्रआर.,आरक्षक हरीशचंद गुप्ता ,  राजेश केवट ,  पुलिस लाईन के सउनि विजय शुक्ला, रमाकांत मिश्रा ,प्रधान आरक्षक अजय यादव ,आरक्षक आनंद तिवारी , ज्ञानेद्र पाठक की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
Previous Post Next Post