एक थप्पड़ मारने के पीछे युवक को गंवानी पड़ी अपनी जान

एक थप्पड़ मारने के पीछे युवक को गंवानी पड़ी अपनी जान

मझौली थाना अंतर्गत अंधे हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा : तीनों आरोपी गिरफ्तार, घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल गमछा और मोबाइल पुलिस ने किए जप्त

मझौली

मझौली थाना अंतर्गत ढिरहा उमरिया गांव में युवक की गमछा और लेस से गला घोंटकर की गई अंधी हत्या का पुलिस ने शनिवार को खुलासा कर दिया। आरोपियों ने तमाचा मारने की विवाद को लेकर युवक को पहले शराब पिलाई और इसके बाद गमछे और जूते के लेस से युवक को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है आरोपियों के पास से हत्या में प्रयुक्त मोटरसाइकिल गमछा और मोबाइल को जप्त करते हुए आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

सिहोरा एसडीओपी कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में एसडीओपी श्रुत्कीर्ति सोमवंशी ने बताया कि 27 दिसंबर ग्राम बुडेली निवासी अनिल बर्मन (19) सिलहटी ग्राम में चंडी मेला देखने आया था। जिसके बाद से वह लापता था। 28 दिसंबर को उसकी लाश ग्राम ढिरहा  उमरिया के पास मिली। अनिल के गले में जूते की लेस कसकर बंधी हुई थी और पैर में पहने हुए जूते के लेस नहीं थे। घटना की सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को देने के बाद युवक की मौत गला दबाने और दम घुटने के कारण सामने आने पर पुलिस ने धारा 302 और 201 का मामला दर्ज कर हत्यारों की तलाश शुरू की।

ऐसे पहुंची पुलिस हत्यारों तक

इस अंधे हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी लिए एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवेष सिंह बघेल के नेतृत्व में थाना प्रभारी मझौली सज्जन सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गई। जांच के दौरान पता चला कि 4 मार्च माह पहले बकरी चराने खेत गई एक लड़की के साथ ग्राम बुढेली के लव कुश वर्मा ने छेड़छाड़ कर दी थी। छेड़छाड़ करने को लेकर लड़की के घर परिवार के लोगों ने लव कुश को डांटा फटकारा था और अनिल ने लवकुश बर्मन को दो-चार थप्पड़ मार दिए थे। 27 दिसंबर को बुढेली गांव के लोग सिलहटी चंडी मेला देखने आए थे आखरी बार अनिल को लवकुश बर्मन, दोजी लाल बर्मन और माखन बर्मन के साथ देखा गया था।

पूछताछ में टूटे आरोपी, बयां कर दिया पूरा सच

सरगर्मी से तीनों की तलाश करने के बाद पुलिस ने संदेही लवकुश बर्मन (20) दोजी लाल बर्मन (18) निवासी बुढेली और माखनलाल बर्मन (20) निवासी चनगवां थाना कटंगी को अभिरक्षा में लेते हुए पूछताछ की। पूछताछ में तीनों ने बताया कि 27 दिसंबर को 8 बजे सिलहटी स्थित चंडी मेले से अनिल बर्मन को मोटरसाइकिल से ग्राम ढिरहा उमरिया से देशी शराब लेकर गांव के आगे रोड पर पहुंचे। रोड के किनारे बैठकर शराब पी और अनिल बर्मन को भी शराब पिलाई। पूर्व में थप्पड़ मारने की बात को लेकर अनिल बर्मन की गमछे से गला घोटकर और जूते का लेस निकालकर गले में बांधकर रोड किनारे खेत में सबको डालकर गांव भाग गए। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल क्रमांक एमपी 20 एनव्ही 5572 गमछा और आरोपियों के कब्जे से तीन मोबाइल जप्त करते हुए आरोपियों को प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार किया गया।
Previous Post Next Post