Ticker

6/recent/ticker-posts

गांधीग्राम के साप्ताहिक बाजार में भारी भीड़मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ीकोरोना की सुरक्षा के प्रति प्रशासन जबाबदेह नही

गांधीग्राम के साप्ताहिक बाजार में भारी भीड़
मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग की  धज्जियां उड़ी
कोरोना की सुरक्षा के प्रति  प्रशासन जबाबदेह नही


सिहोरा

एक ओर मध्यप्रदेश शासन द्वारा कोविड-19 के पॉजिटिव तथा एक्टिव केस में तेजी से बढ़ोतरी के कारण  कक्षा 1 से 12 वीं तक कि प्रदेश की समस्त शासकीय,अशासकीय शालाओं व होस्टल को 15 जनवरी से 31 जनवरी 2022 तक बन्द करने के निर्देश जारी किए गए हैं। समस्त धार्मिक, व्यवसायिक मेले,जुलूस, रैलियों को प्रतिबंधित किया गया है।वहीं शुक्रवार को ग्राम  गांधीग्राम में साप्ताहिक  दिवस को कोरोना संक्रमण से सुरक्षा संबंधी प्रतिबंधों व नियमों की खुली अवहेलना देखने को मिली। बाजार रात्रि लगभग 9 बजे तक भरता है। कोरोना वायरस व नए वेरीएन्ट ओमोक्रोन में लोगों की नींद उड़ा रखी है।संक्रमण की दर में प्रतिदिन वृद्धि हो रही है।लोगों को इसके बारे में जागरूक करने के लिए सरकारी व गैर सरकारी स्तर पर तरह-तरह के अभियान चलाए जा रहे है।


कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा जारी किये एडवाइजरी का पालन करने का अनुरोध  लोगों से किया है। लोगों से अपील की है भीड़भाड़ वाले जगहों में वे सतर्कता बरतें और स्वच्छता का खास ख्याल रखें। स्वास्थ्य विभाग को सभी जरूरी उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं।  परन्तु प्रशासन द्वारा गांधीग्राम में कोरोना वायरस संक्रमण से सुरक्षा के प्रति जवाबदेही नहीं दिखाई दे रही है। 
 गांधीग्राम  में शुक्रवार को साप्ताहिक बाजार लगा, इसमें बाहर से व्यापारी सब्जी विक्रेता,मिर्च मसालों, किराना सामग्री दुकान वाले व्यापारी भी अपनी दुकानें लगाकर विक्रय करते रहे।  बिना किसी सुरक्षा उपाय के साप्ताहिक बाजार में जमकर भीड़ देखी गई। लोग कोरोना के संक्रमण को जानने के बावजूद भीड़ में  उपस्थित रहे। व्यापारी  और दुकानदारों साथ ही विभिन्न ग्रामों से सामान क्रय करने आने वाले लोग बिना मास्क के बिना दुकानों से क्रय विक्रय करते रहे।लोग कोरोना वायरस से सुरक्षा रखने की प्रशासन की अपील का कही भी पालन होना नही पाया जा रहा है। साप्ताहिक बाजार में गांधीग्राम के अलावा आसपास के ग्राम माल्हा, रामपुर, धमकी, बम्होरी, कुशनेर, मिढ़ासन, पथरई, उमरिया, कैलवास,तपा,खुडावल,शहजपुरा आदि ग्रामों के लोग पहुंचे।