रक्त दान है प्राण पूजा,इसके जैसा दान न दूजा

रक्त दान है प्राण पूजा,इसके जैसा दान न दूजा
खितौला में 121 युवाओं ने किया स्वेच्छिक़ रक्तदान
सेवाभाव समिति खितौला के आयोजन में रक्तदान हेतु उमड़े युवा


सिहोरा

रक्त दान है प्राण पूजा,इसके जैसा दान न दूजा" इस भाव से ओतप्रोत खितौला में लगे रक्तदान शिविर में 121 युवाओं ने रक्तदान कर मानव जीवन की रक्षा में मानव के ही कर्तव्य का अद्भुत संदेश दिया।सेवाभाव समिति खितौला के इस आयोजन में जबलपुर जिला चिकित्सालय से पहुँचे स्वास्थ्य कर्मियों ने दान किये रक्त को सुरक्षित किया।
जबलपुर जिले में सर्वाधिक आंकड़ा

 विक्टोरिया से खितौला पहुँचे स्वास्थ्यकर्मियों के  दल ने जानकारी दी कि सेवाभाव समिति खितौला द्वारा किया गया रक्तदान जबलपुर जिले में सर्वाधिक रक्तदान है।
पहले ही शिविर में 121 युवाओं द्वारा रक्तदान

 सेवाभाव समिति खितौला द्वारा आज शनिवार को हुआ रक्तदान शिविर पहला ही शिविर था और पहले ही शिविर 121 युवाओं द्वारा रक्क्तदान कर सम्पूर्ण जबलपुर ग्रामीण में सर्वाधिक रक्क्तदान का आंकड़ा पा लिया गया।
           आज के शिविर में सेवाभाव समिति के उत्साहित युवाओं ने संकल्पित होकर कहा कि जब तक जीवन है वे रक्क्तदान से पीछे नही हटेंगे और अन्य युवाओं को भी इस हेतु प्रेरित करेंगे।उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि हमारा सौभाग्य है कि हमारे रक्त की बूंदे किसी को नया जीवन देने के काम आएगी।
Previous Post Next Post