Ticker

6/recent/ticker-posts

भारतीय किसान संघ मस्तूरी के पदाधिकारियों ने तहसीलदार के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

WEE NEWS मस्तूरी।  भारतीय किसान संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी एवं 36 प्रांतों के अध्यक्ष, महामंत्रियों तथा संगठन मंत्रियों ने गहन मंथन के बाद तीन कृषि सुधार अध्यादेशों में 5 संशोधन करने के पश्चात उन्हें लागू करने की मांग की और निवेदन किया गया था कि कानूनों में लाभकारी मूल्य का कोई जिक्र नहीं है, इसलिये चाहे चौथा कानून लाया जावें, किंतु लाभकारी मूल्य को कानूनी स्वरूप प्रदान किया जावे।
उल्लेखनीय है कि सितंबर 2020 में भारतीय किसान संघ द्वारा देशभर में 20,000 ग्राम सभाए करते हुए ग्राम सभाओं द्वारा पारित प्रस्ताव  प्रधानमंत्री एवं कृषि मंत्री, भारत सरकार को भिजवाये गये। उसके परिणाम की प्रतीक्षा एवं कोविड़ नियमो का ध्यान रखते हुए पुनः 8 सितंबर 2021 को एक ही दिन में देशभर के 513 जिला केन्द्रों पर धरना-प्रदर्शन हुए, जिनमें लाखों किसानों ने भाग लिया। ज्ञापन पुनः प्रधानमंत्री  एवं कृषि मंत्री  को प्रेषित किए गये। इस बीच किसान आंदोलन (दिल्ली बोर्डर) के नाम पर  प्रधानमंत्री  द्वारा तीनों कानून वापिस ले लिए गये, इस घोषणा से देशभर का लघु एवं सीमांत किसान स्तब्ध रह गया। उसकी सभी आशाएं धराशाही हो गई। 
      किसानों को उनकी उपज का मूल्य नही मिलने के कारण किसान गरीब औेर कर्जदार होता जा रहा है यद्यपि सरकार अपने ढंग से कई प्रकार की मदद करती है। परंतु इसका क्रियान्वयन सही ढंग से न होने के कारण किसान की दशा में सुधार नही हो पा रहा है। परेशान किसान इतनी मांग कर रहा है कि उसकी फसल का मूल्य, लागत एवं उस पर लाभ जोड़कर भुगतान की व्यवस्था बने। इसके लिए कानूनी प्रावधान करते हुए क्रियान्वयन की प्रक्रिया प्रस्तुत की जाये, तब बेरोजगारी की वर्तमान स्थिति में अधिक से अधिक नौजवान, खेती-किसानी की ओर आकर्षित होगें,  देश में बेरोजगारी की समस्या का समाधान भी इसी रास्ते से निकल सकता है।  । 
भारत का किसान अपने राष्ट्रीय दायित्व को भी भली-भांति समझता है, इसलिए भारतीय किसान संघ जो शांतिपूर्ण, अहिंसक एवं राष्ट्रहित एवं किसान हित को एक मानकर चलने वाले संगठन द्वारा आरम्भ किए गये  चरणबद्ध आंदोलन के तृतीय चरण में दिनांक 1 से 10 जनवरी 2022 तक देशभर के लगभग 1 लाख गांवों में चले जन-जागरण अभियान में छोटी-छोटी ग्राम सभाऐं की गई और अंतिम दिन 11 जनवरी 2022 को पूर्व प्रधानमंत्री एवं स्व0 लाल बहादुर शास्त्री जी की पुण्य तिथि को सभी तहसीलों/ ब्लॉक केन्द्रों पर धरना-प्रदर्शन के पश्चात सक्षम प्राधिकारियों के माध्यम से राष्ट्रपति को प्रेषित है। आज के इस ज्ञापन सौंपने वालों में किसान संघ जिला प्रमुख चांदनी भारद्वाज, जिला महामंत्री हेमंत सोनू तिवारी, प्रकाश अवस्थी, मोनू यादव ,कृष्णा साहू, गंगाराम वर्मा, बाली धीवर ,छत्रपाल सिंह, प्रमोद सिंह, अनिल डहरिया, अमीन खान, प्रदीप मानिकपुरी, दीपक गेंदले महेंद्र मिश्रा, सूरज मानिकपुरी की उपस्थिति रही।