सिहोरा जिला बना तो कुंडम को परेशानी होगी-नंदनी मरावी

सिहोरा जिला बना तो कुंडम को परेशानी होगी-नंदनी मरावी 
बहोरीबंद और मझौली नही चाहते जिला बने सिहोरा
विधायक सिहोरा की प्रेस कांफ्रेंस से सिहोरा में आक्रोश

सिहोरा 

अगर सिहोरा जिला बनता है तो कुंडम के लोगों को परेशानी होगी और बहोरीबंद और मझौली भी सिहोरा को जिला बनाने के पक्ष में नही है।ये बात सिहोरा विधायक नंदनी मरावी द्वारा रेस्ट हाउस सिहोरा में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों के समक्ष बोली गई।बात बाहर आते ही सम्पूर्ण सिहोरा में आक्रोश फैल गया।वहीं सिहोरा को जिला बनाने के लिए पिछले पंद्रह रविवारों से धरना दे रही लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने विधायक के वक्तव्य की निंदा करते हुए कहा कि पिछले 20 वर्षों से सिहोरा विधानसभा में कुंडम शामिल है,विधायक स्वयं कुंडम की है ऐसे में कुंडम की आड़ ले सिहोरा जिला को नकारना निंदनीय है।समिति ने यह भी दावा किया कि बहोरीबंद और मझौली के विधायकों ने समिति से सिहोरा जिला के पक्ष में होने की बात भी कही है।विधायक का कहना सत्य नही है।
               ये पूरा मामला तब हुआ जब विधायक सिहोरा नंदनी मरावी द्वारा भाजपा के बूथ विस्तारक योजना की अहम बैठक सिहोरा रेस्ट हाउस में ली जा रही थी।विधायक द्वारा स्थानीय पत्रकारों को भी पत्रकार वार्ता हेतु बुलाया गया था।बैठक में जैसे ही विधायक ने पत्रकार वार्ता प्रारंभ की स्थानीय पत्रकारों के द्वारा सिहोरा को जिला बनाने के लिए सिहोरा में चल रहे आंदोलन और कराये जा रहे जनमत संग्रह के विषय मे विधायक से उनका मत जाना गया।जिसमें विधायक नंदनी मरावी,प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राजा मोर और जिला महामंत्री राजेश दाहिया द्वारा मोर्चा सम्हालते हुए पत्रकारों से जिला विषय से अलग बिंदु पर बात करने की बात कही गई।पर जब पत्रकार जिला विषय पर विधायक के मत के लिए अड़ गए तो विधायक और भाजपा प्रतिनिधियों द्वारा ऐसी बातें सामने आ गई जिससे पूरे सिहोरा में हड़कंप मच गया।
      पत्रकार वार्ता की बाते जैसे ही बाहर आई लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति सिहोरा ने मामले को लपक लिया।समिति के अनिल जैन,विकास दुबे,सियोल जैन,अमित बक्शी,मानस तिवारी,प्रयास मिश्रा,अंकुर जैन ने विधायक के वक्तव्य की निंदा की।समिति ने कहा कि वे इस बात को सिहोरा के जन जन तक पहुंचाएंगे।कुंडम को लेकर दिए वक्तव्य पर समिति ने खासी नाराजगी जताई।कुंडम की आड़ लेना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है।लक्ष्य जिला सिहोरा आंदोलन समिति ने यह भी दावा किया कि मझौली विधायक और बहोरीबंद विधायक सिहोरा जिले के प्रति विरोध में नही है।समिति से हुई चर्चा में जबाब संतोषजनक मिला है।समिति ने कहा कि जिला का दावा सिहोरा कर रहा तो पहले इस हेतु प्रस्ताव तो सिहोरा विधायक को ही रखना होगा जो आज तक नही रखा गया।
Previous Post Next Post