Ticker

6/recent/ticker-posts

खाद नहीं मिलने से भड़के किसान सड़क पर लगा दिया जाम, जमकर नारेबाजी

खाद नहीं मिलने से भड़के किसान सड़क पर लगा दिया जाम, जमकर नारेबाजी
सिहोरा के राज्य विपणन संघ के गोदाम का मामला : टोकन मिलने के बावजूद किसानों को नहीं मिल रही थी डीएपी-यूरिया, किसानों का आरोप कर्मचारी व्यापारियों को ब्लैक में बेच देते हैं खाद

सिहोरा

सिहोरा स्थित राज्य सहकारी विपणन संघ के गोदाम के बाहर खाद नहीं मिलने से आक्रोशित किसानों ने सड़क पर जाम लगा दिया। आक्रोशित सैकड़ों किसानों ने आरोप लगाया कि विपणन संघ के कर्मचारी व्यापारियों को मोटी रकम लेकर यूरिया और डीएपी बेच देते हैं। वहीं किसानों को टोकन देने के बाद खाद नहीं मिल रही। किसान एक-एक बोरी डीएपी और यूरिया के लिए परेशान है। 

मच गई अफरा-तफरी, प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी

गौरी तिराहा स्थित सड़क पर आक्रोशित किसानों के जाम लगा देने से अफरातफरी की स्थिति निर्मित हो गई। आक्रोशित किसानों ने प्रशासन के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी शुरू कर दी। काफी देर किसानों ने सड़क को जाम करके रखा। हालांकि मामले की जानकारी पुलिस और प्रशासन को मिलते ही अधिकारी मौके पर पहुंचे और किसानों को किसी तरह समझाया। 


खाद को लेकर लगातार बिगड़ रही, स्थिति किसानों में आक्रोश

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष रमेश पटेल ने आरोप लगाया कि डबल लॉक किस से होरा स्थित गोदाम में आए दिन किसान टोकन लेकर पहुंचते तो जरूर है लेकिन उन्हें कह दिया जाता है कि अभी स्टॉक नहीं आया। जबकि गोदाम से व्यापारियों को लंबा मुनाफा लेकर ब्लैक में खाद दे दी जाती है और किसान भटकता रहता है। सिहोरा में पिछले एक माह के दौरान लगातार खाद को लेकर स्थिति बिगड़ती जा रही है।

500 गांव के किसानों को वितरित होती है खाद

सिहोरा स्थित विपणन संघ के गोदाम से सिहोरा और मझौली तहसील के करीब 500 से अधिक गांव के किसानों को डीएपी और यूरिया नगद में दी जाती है। लगातार किसान डीएपी यूरिया के लिए परेशान हो रहा है लेकिन जिम्मेदार अधिकारी सिर्फ मूकदर्शक बने रहते हैं।