Ticker

6/recent/ticker-posts

इंद्राना के पठार के जंगल में तेंदुए का शव मिलने से मचा हड़कंप, शिकार का संदेह

इंद्राना के पठार के जंगल में तेंदुए का शव मिलने से मचा हड़कंप, शिकार का संदेह 

वन परिक्षेत्र सिहोरा की मझौली सर्किल की घटना : मौके पर पहुंचा वन विभाग का अमला, शरीर पर नहीं मिले कोई चोट के निशान, पोस्टमार्टम के बाद हो सकेगा मौत के कारणों का वास्तविक खुलासा


सिहोरा

वन परिक्षेत्र सिहोरा की मझौली सर्किल के अंतर्गत आने वाली इंद्राना बीट के पठार गांव के जंगल में तेंदुए का शव मिलने से हड़कंप मच गया। पूरा मामला सोमवार देर शाम का बताया जा रहा है। तेंदुए का शव मिलने की सूचना पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा। प्रारंभिक जांच में तेंदुए के शरीर में जाहिर चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं, लेकिन फिर भी अनुमान लगाया जा रहा है कि तेंदुए का शिकार हुआ है। तेंदुए की मौत आखिर किन कारणों से हुई इसका खुलासा पोस्टमार्टम के बाद ही हो सकेगा। तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के लिए वेटरनरी कॉलेज जबलपुर भेज दिया गया है। 


जानकारी के मुताबिक इंद्राना बीट के पठार गांव की जंगल में नारंगी क्षेत्र के कक्ष ओ 394 में सोमवार शाम छह बजे के लगभग वन विभाग के अमले को सूचना मिली कि एक तेंदुआ मृत हालत में पड़ा है। सूचना पर एसडीओ फॉरेस्ट सिहोरा मुकेश पटेल अमले के साथ मौके पर पहुचे। मौके पर जाकर देखा तो जंगल के पास तेंदुआ मृत हालत में पड़ा था। तेंदुए केशव का परीक्षण करने पर उसके शरीर पर कोई भी जाहिर चोट के निशान नहीं मिले। मृत नर तेंदुए की उम्र 8-10 वर्ष के बीच बताई गई।

मौके पर पहुंची डॉग स्क्वायड की टीम आसपास के क्षेत्र में की सर्चिंग

तेंदुए के शव मिलने की सूचना वन विभाग के अमले ने डॉग स्क्वायड टीम जबलपुर को दी। मौके पर पहुंची डॉग स्क्वाड की टीम ने अंधेरा होने के बावजूद जंगल के करीब एक से डेढ़ किलोमीटर के क्षेत्र में सर्चिंग की, लेकिन डॉग स्क्वाड की टीम को कुछ भी हाथ नहीं लगा। 


करंट लगाकर शिकार किए जाने की चर्चा, पीएम के बाद हो सकेगा मौत का खुलासा

सूत्रों की माने तो आसपास के क्षेत्र में यह चर्चा जोरों पर थी कि तेंदुए का करंट लगाकर शिकार किया गया है। लेकिन मौके पर वन विभाग के अमले को कोई भी ऐसी चीज नहीं मिली जिससे ऐसी संभावना जताई जाए कि तेंदुए का करंट लगाकर शिकार किया गया है। इसके अलावा तेंदुए के शरीर में कोई भी जाहिर चोट के निशान या अंग भंग नहीं हुए हैं। फिलहाल वन विभाग के हमले में तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के लिए जबलपुर वेटरनरी कॉलेज भेज दिया है। पोस्टमार्टम के बाद ही तेंदुए की मौत का वास्तविक कारण सामने आ सकेगा।

वन विभाग ने शुरू की संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ

तेंदुए का शव मिलने के बाद वन विभाग का मामला पूरी तरह अलर्ट हो गया है। सूत्रों की माने तो वन विभाग के अमले ने तेंदुए का शव मिलने के बाद जंगल से सटे आसपास के गांव के संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी शुरू कर दी है, लेकिन अभी तक वन विभाग के हाथ कुछ भी नहीं लगा है।


क्या कहते हैं जिम्मेदार

वन परिक्षेत्र सिहोरा की मझौली सर्किल के अंतर्गत आने वाली इंद्राना बीट के पठरा गांव के जंगल के पास तेंदुए का शव मिला है। तेंदुए के शरीर में कोई भी जाहिर चोट के निशान नहीं मिले। डॉग स्क्वायड की टीम ने आसपास के क्षेत्र में सर्चिंग की लेकिन कोई भी संदिग्ध चीज हाथ नहीं लगी। तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के लिए जबलपुर वेटरनरी कॉलेज भेजा गया है। जंगल से सटे आसपास के गांव के लोगों से पूछताछ की जा रही है।

मुकेश पटेल अनुविभागीय अधिकारी वन  सिहोरा