Ticker

6/recent/ticker-posts

जंगली जानवरों के लिए बिछाए करंट की चपेट में आकर हुई थी तेंदुए की मौत, वन अमले ने आरोपी को दबोचा

जंगली जानवरों के लिए बिछाए करंट की चपेट में आकर हुई थी तेंदुए की मौत, वन अमले ने आरोपी को दबोचा
इंद्राना में तेंदुए की मौत का मामला : आरोपी के कब्जे से खूंटियां, जी आई तार और रस्सी बरामद, जंगली जानवरों के लिए तालाब के पास फैलाया था आरोपी ने जाल

सिहोरा

वन परिक्षेत्र सिहोरा की मझौली सर्किल की इंद्राणा बीट में सोमवार को वयस्क तेंदुए की मौत की गुत्थी को वन विभाग के अमले ने सुलझा लिया है। तेंदुए की मौत वन्य प्राणियों के शिकार के लिए बिछाए गए करंट के जाल की चपेट में आने से हुई थी। वन विभाग के अमले ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के पास से वन विभाग के अमले ने करंट बिछाने के इस्तेमाल में लाई खूंटियां, जीआई तार और रस्सी भी बरामद की है। आरोपी के खिलाफ भारतीय वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। आरोपी की विधिवत गिरफ्तारी के बाद न्यायालय में पेश किया गया, जहां से न्यायालय ने आरोपी को जेल भेज दिया।

 मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएफओ जबलपुर अंजना तिर्की ने अनुविभागीय अधिकारी वन मुकेश पटेल को निर्देशित करते हुए टीम का गठन किया। गठित दल में रेंजर जेडी पटेल डिप्टी रेंजर अबरार खान डिप्टी रेंजर मझौली कालूराम पटेल, बीट प्रभारी इंद्राना संदेश सिंह ठाकुर, बीट गार्ड नारायण तिवारी, प्रभारी राजेश खरे ने मामले की पड़ताल शुरू की। जांच के दौरान आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में सर्चिंग अभियान शुरू हुआ। जिस में जानकारी लगी कि जिस जगह पर तेंदुए का शव मिला था उसके आगे ही खेत लगे हुए हैं और बाजू में ही तालाब है। 

डॉग ने आरोपी के घर की  सर्चिंग, जंगली जानवरों के लिए फैलाया था करंट का जाल

एसडीओ के मुताबिक खोजबीन के दौरान पड़रिया निवासी राजेश कुमार नामदेव (40) को वन विभाग के अमले ने पूछताछ के लिए बुलाया। इस बीच वन विभाग के अमले ने उसके घर की सर्चिंग कि जहां पर खूंटियां, जीआई तार और रस्सी बरामद हुई। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि जंगल के पास ही वह एक जमीन की रखवाली करता है और उसकी भी खेती की भूमि है। घुघरी के तालाब में पानी पीने के लिए जंगली जानवर आते हैं जिसके लिए उसने 11 केवी लाइन से जी आई तार खींचकर खूंटियों में जाल फैलाया था। जिसकी चपेट में वहां घूम रहे तेंदुए की पूंछ आ गई। जिसके बाद वन विभाग के अमले ने आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उसे न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। 



यह थी पूरी घटना

 14 फरवरी को मझौली सर्किल की इंद्राना बीट के पठार के जंगल में तेंदुए का शव मिलने की सूचना मिली। सूचना पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा जहां उन्होंने देखा कि जंगल के पास मृत तेंदुआ पड़ा था जिसकी उम्र लगभग 8 से 10 वर्ष के आसपास थी। वन विभाग के अमले ने इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दी। मौके पर डॉग स्क्वाड की टीम पहुंची जिसने आसपास के क्षेत्र की सर्चिंग की। तेंदुए के शव के प्रारंभिक परीक्षण के दौरान कोई भी चोट के निशान नहीं मिले। जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए वेटरनरी कॉलेज जबलपुर भेजा दिया गया।

इनका कहना

वन परिक्षेत्र सिहोरा के अंतर्गत आने वाली मझौली सर्किल की इंद्राना बीट में 14 जनवरी को वयस्क तेंदुए का शव मिला था। शिकार की आशंका के चलते शिकारियों की तलाश में टीम गठित की गई और मझौली के पड़रिया गांव निवासी एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है जिसके कब्जे से शिकार में इस्तेमाल की गई खूंटियां, जी आई तार और रस्सी बरामद हुआ है। आरोपी ने स्वीकार किया कि उसने वन्य प्राणियों के लिए करंट का जाल फैलाया था जिसकी चपेट में तेंदुआ आ गया।


मुकेश पटेल, अनुविभागीय अधिकारी वन सिहोरा