Ticker

6/recent/ticker-posts

पेयजल टंकी का गुणवत्ताविहीन हो रहा निर्माण कार्य, कंक्रीट डालने के बाद नहीं हो रही तराई

पेयजल टंकी का गुणवत्ताविहीन हो रहा निर्माण कार्य, कंक्रीट डालने के बाद नहीं हो रही तराई
जल जीवन मिशन योजना :  38 लाख की लागत से ग्राम पंचायत बुधारी ठेकेदार रहा मनमानी, सरपंच और ग्रामीणों ने पीएचई के अधिकारियों से की शिकायत, अधिकारी नहीं दे रहे कोई भी ध्यान


सिहोरा

ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीणों को पेयजल की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सरकार द्वारा जल जीवन मिशन के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में पानी की टंकी का निर्माण कराया जा रहा है,  लेकिन ठेकेदार इस निर्माण कार्य में पूरी तरह मनमानी कर सरकार की इस योजना को पलीता लगाने में लगे हैं। ताजा मामला जनपद पंचायत सिहोरा की ग्राम पंचायत बुधारी का है जहां पर ठेकेदार गुणवत्ता विहीन काम करने पर उतारू है। ग्राम पंचायत की सरपंच और ग्रामीणों द्वारा इसकी शिकायत पीएचई विभाग के आला अधिकारियों से करने के बावजूद अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे। 


ये है पूरा मामला

ग्राम पंचायत बुधारी की सरपंच शीला यादव ने बताया कि जल जीवन मिशन योजना के अंतर्गत गांव में 38 लाख रुपए की लागत से पानी की टंकी का निर्माण पीएचई विभाग द्वारा ठेकेदार से कराया जा रहा है। निर्माण कार्य में ठेकेदार भभुआ रेत और गुणवत्ता विहीन मटेरियल का इस्तेमाल कर पूरा निर्माण कार्य कर रहा है।  इसके अलावा निर्माण कार्य में तराई का काम भी नहीं हो रहा है ऐसे में भविष्य में टंकी के खराब होने का खतरा मंडराने लगेगा। 

"टंकी में क्या सटक लेकर पानी से तराई में करूंगा"

सरपंच ने आरोप लगाया कि जब इस मामले को लेकर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी उप संभाग सिहोरा के अनुविभागीय अधिकारी से शिकायत की गई तो वह बेतुकी बातें करने लगे। वे कहते नजर आएग कि "टंकी में क्या सटक लेकर पानी से तराई में करूंगा"। 

कलेक्टर से करेंगे शिकायत, पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग

ग्रामीणों और सरपंच का कहना है कि अधिकारियों की इस तरह के बेतुके बयान और ठेकेदारों की मनमानी कार्यप्रणाली को लेकर जल्द ही कलेक्टर को इसकी शिकायत की जाएगी और पूरे मामले की जांच कराएंगे। विभागीय अधिकारियों ने अभी तक हुए निर्माण कार्य की टेस्टिंग रिपोर्ट तक नहीं बुलाई। ऐसे में ठेकेदार किस तरीके का मटेरियल इस्तेमाल कर रहा है और उसकी गुणवत्ता क्या है यह जांच का विषय है। संबंधित विभाग के उपयंत्री यहां पर कभी भी ठेकेदार के काम का निरीक्षण करने तक नहीं आते।


क्या कहते हैं जिम्मेदार

 ग्राम पंचायत बुधारी में नल जल मिशन के अंतर्गत चल रहे टंकी के निर्माण कार्य की गुणवत्ता को लेकर ठेकेदार को निर्देश दिए गए हैं, जहां तक तराई का काम है उसके लिए भी ठेकेदार को कड़ी फटकार लगाई गई। 


विवेक कुमार शुक्ला, अनुविभागीय अधिकारी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी उप संभाग सिहोरा