सहायक लाइनमैन ने 33 किसानों से वसूले 65000 रुपए, जमा नहीं किया बिजली बिल, परमानेंट कनेक्शन दिलाने के नाम पर 53000 की वसूली

सहायक लाइनमैन ने 33 किसानों से  वसूले 65000 रुपए, जमा नहीं किया बिजली बिल, परमानेंट कनेक्शन दिलाने के नाम पर 53000 की वसूली
फर्जीवाड़ा : कनिष्ठ यंत्री कार्यालय गोसलपुर क्षेत्र से जुड़े आधा दर्जन गांव का मामला, लोक अदालत से प्री लिटिगेशन का किसानों को मिला नोटिस

भारतीय किसान यूनियन के साथ पीड़ित किसानों ने कार्यपालन यंत्री से कि मामले की शिकायत


सिहोरा

मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी सिहोरा संभागीय कार्यालय के अंतर्गत आने वाले कनिष्ठ यंत्री कार्यालय गोसलपुर से जुड़े करीब आधा दर्जन गांव के कृषक उपभोक्ताओं से कनिष्ठ यंत्री और सहायक लाइनमैन की मिलीभगत से परमानेंट कृषि पंपों के बिजली बिल और परमानेंट कनेक्शन के नाम पर फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है। इतने बड़े फर्जीवाड़े के मामले को लेकर भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष रमेश के पटेल के साथ पहुंचे किसानों ने  कार्यपालन यंत्री सिहोरा शिकायत और ज्ञापन सौंपकर इस फर्जीवाड़े की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। 


यह है पूरा मामला

भारतीय किसान यूनियन के मझौली ब्लाक अध्यक्ष अनिल पटेल के मुताबिक गोसलपुर कनिष्ठ यंत्री कार्यालय के अंतर्गत आने वाले ग्राम बघेली, मगरकटा, घुघरा, मुरैठ, सुरेखा, लखनपुर के 33 किसानों के परमानेंट पंप कनेक्शन के बिल आए थे। संबंधित क्षेत्र के सहायक लाइनमैन संतोष मिश्रा ने किसानों से संबंधित कृषि पंपों के बिजली बिलों की राशि 65833 जमा करने के नाम पर वसूली। इसके अलावा 6 किसानों से परमानेंट कनेक्शन दिए जाने के नाम पर करीब 53000 रुपए ले लिए। लेकिन इस राशि को संबंधित सहायक लाइनमैन न तो ऑनलाइन जमा किया और न ही ऑफलाइन कार्यालय में। इतना ही नहीं संबंधित सहायक लाइनमैन किसान प्रदीप पटेल, लक्ष्मण पटेल, प्रांजल पटेल, महेश पटेल, राजकुमार नामदेव, सुनील अग्रवाल, राम किशोर पटेल से नवीन परमानेंट कनेक्शन दिलाने के नाम पर 53000 रुपए वसूल डाले।

ऐसे हुआ पूरे मामले का खुलासा

विद्युत पंप के परमानेंट कनेक्शन का बिजली बिल जमा नहीं होने पर बिजली जमा नहीं होने पर सतीश कुर्मी , अंकित कुर्मी, रोहित नामदेव, रमेश नामदेव, घनश्याम, सतीश नामदेव, इंद्र कुमार अन्य 26 किसानों को बकाया बिल के लिए 12 मार्च को आयोजित लोक अदालत से प्री लिटिगेशन का नोटिस मिला। जिसके बाद किसानों के पैरों तले जमीन खिसक गई। संबंधित किसानों ने लोक अदालत में बिजली कंपनी के अधिकारियों को लिखित में इसकी जानकारी भी दी कि उन्होंने कृषि पंपों का बिजली बिल सहायक लाइनमैन को दे दिया है।


क्या कहते हैं जिम्मेदार

गोसलपुर कनिष्ठ कार्यालय के अंतर्गत आने वाले गांव के किसानों ने परमानेंट कृषि पंप बिल और परमानेंट विद्युत कनेक्शन को लेकर वसूली किए जाने की शिकायत की है जो कि बहुत ही गंभीर मामला है। उस समय लाइनमैन कौन था उसके बयान लिए जाएंगे। जिस सहायक लाइनमैन की बात की जा रही है वह कंपनी का कर्मचारी नहीं है। पूरे मामले की जांच कराई जाएगी । 


मोहन सिंह, कार्यपालन यंत्री मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी सिहोरा संभाग
Previous Post Next Post