Ticker

6/recent/ticker-posts

पुरानी पेंशन योजना लागू करने शासकीय कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार अतुल वैष्णव को सौंपा ज्ञापन



WEE NEWS बिलासपुर/मस्तूरी । छत्तीसगढ़ कांग्रेस के जनघोषणा पत्र में कहा गया है कि सीपीएफ पर विचार कर 2004 के पूर्व जो पेंशन योजना थी उसे लागू करने की कार्यवाही की जाएगी, 2004 के पूर्व पुरानी पेंशन योजना संचालित था, परंतु अभी तक छत्तीसगढ़ शासन द्वारा पुरानी पेंशन बहाली हेतु सार्थक पहल नहीं किया गया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत  द्वारा विधानसभा में NPS के स्थान पर पुरानी पेंशन बहाली की घोषणा गई है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 1 नम्वबर 2004 से नवीन अंशदायी पेंशन योजना (NPS) लागू की गई है। नवीन अंशदायी पेंशन योजना (NPS) बाजार आधारित योजना है, इस योजना से सेवानिवृत होने वाले
NPS कर्मचारियों को अल्प पेंशन का भुगतान हो रहा है, जिससे बुढ़ापे में उनका गुजर बसर अत्यंत पीड़ादायक होता जा रहा है। राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के बैनर में छत्तीसगढ़ के 2 लाख 80 हजार NPS कर्मचारी वर्तमान में लागू एन पी एस के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना पुनः लागू करने की मांग किया है। ज्ञापन सौंपने वालों में राजेश सिंह छत्री, सुनील चौधरी, सूरज छत्री, संजय राज, रूपलाल तरुण, उमेश दिनकर, विजय श्रीवास, सुचित्र चंदेल ,नवल सिंह चंदेल, ओम प्रकाश राठौर, चंद्र कुमार चंद्राकर, मनमोहन पटेल, संजीव मिरी, विनायक गुप्ता ,संदीप रजक, सुरेंद्र नवनीत ,सुशांत तिर्की, परमानंद कुंडली, दीपक दुबे, योगेश चंदेल, कैलाश चंद्र, अनिल श्रीवास ,सतीश महिलांगे, प्रतिभा मेहता, प्रमोद पांडे ,सुनीता पांडे, दुष्यंत सिंह, उमेश शर्मा ,चंद्रकांत राठौर, आदि उपस्थित रहे।