Ticker

6/recent/ticker-posts

अनदेखी : चार साल से अधर में लटका सामुदायिक भवन का निर्माण

अनदेखी : चार साल से अधर में लटका सामुदायिक भवन का निर्माण
 जनपद पंचायत सिहोरा की ग्राम पंचायत जुझारी का मामला अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

राज्य वित्त आयोग भोपाल से 22 लाख  रुपए की लागत से होना था निर्माण

सिहोरा

सिहोरा विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत जुझारी में वर्ष 2017 में राज्य वित्त आयोग भोपाल से लगभग बाइस लाख पचास हजार रुपए की लागत से स्वीकृत हुए 990 वर्ग फिट में बनने वाले सामुदायिक भवन का निर्माण कार्य अधर में लटक गया है। ग्राम पंचायत जुझारी के सरपंच राजकुमार पटेल ने बताया की वर्ष 2017 में सामुदायिक भवन की पहली किस्त दस लाख रुपए प्राप्त हुई थी। जिस पर पंचायत द्वारा सामुदायिक भवन के निर्माण कार्य में लगभग तेरह लाख की राशि खर्च कर दी गई सामुदायिक भवन अभी अधूरा है, क्योंकि दूसरी किस्त न मिलने के कारण सामुदायिक भवन में अभी प्लास्टर छपाई खिड़की रंग रोगन टाइलस जैसे अनेक निर्माण कार्य बाकी हैं।
   
4 सालों से शोपीस बनकर खड़ा आधा अधूरा सामुदायिक भवन

  ज्ञात हो की 2017 से 2021 गुजर गया है चार साल का लंबा समय व्यतीत होने के बाद भी अग्रिम किस्त न मिलने के कारण उक्त सामुदायिक भवन शोपीस की तरह खड़ा हुआ है। जिससे ग्राम वासियों को सामुदायिक भवन का उपयोग करने को नहीं मिल रहा है। शासन द्वारा इस लिहाज से यह भवन स्वीकृत किए गए थे की सामुदायिक भवन बनने से गांव के लोगों को धार्मिक सामाजिक धार्मिक राजनैतिक रचनात्मक व अन्य सामूहिक कार्यक्रमों के आयोजन करने हेतु भवन की समुचित व्यवस्था हो सकेगी।सरपंच का कहना है की अनेकों बार अग्रिम किस्त प्रदाय करने संबंधी मांग पत्र जिला जिला पंचायत सीईओ जनपद सीईओ एसडीएम कलेक्टर राज्य वित्त आयोग भोपाल कार्यालय भेजा जा चुका है परंतु अभी तक किस्त प्राप्त नही हुई। 

दूसरे मदों की भी लगा दी राशि, कबाड़ में तब्दील हो जाएगा भवन

सरपंच की माने तो  निर्माण काम का उपयंत्री द्वारा भौतिक सत्यापन किया जा चुका है। जिसमें ग्राम पंचायत को दस लाख प्राप्त हुए थे, परंतु 12 लाख 46 हजार रुपए खर्च कर दिए गए। ग्राम पंचायत की अन्य मद की भी राशि लगा दी गई है। अधूरा भवन धीरे धीरे कबाड खाने की शक्ल में तब्दील होता जा रहा है परंतु इस ओर पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियो द्वारा अग्रिम किस्त दिलाने सार्थक प्रयास नहीं किए जा रहे हैं सरपंच का कहना है की अग्रिम किस्त हेतु पंचायती राज संचनालय भोपाल भी पत्र भेजा जावेगा जुझारी गांव के बाशिंदों ने इस और जिला प्रशासन के मुखिया से ध्यान देने की गुहार लगाई है।