दुकानों में राशन वितरण हुआ ठप, गेहूं उपार्जन पर प्रक्रिया पर मंडराया खतरा

दुकानों में राशन वितरण हुआ ठप, गेहूं उपार्जन पर प्रक्रिया पर मंडराया खतरा

सहकारिता कर्मचारी अनिश्चितकालीन कलम बंद हड़ताल पर गए

मांगे पूरी नहीं होने तक जारी रहेगी हड़ताल

मझौली

सहकारिता महासंघ भोपाल के आह्वान पर सहकारी कर्मचारी शुक्रवार को अपनी विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गए।  सहकारिता कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनकी जायज मांगें पूरी नहीं की जाएंगी यह हड़ताल अनिश्चित काल तक चलती रहेगी। सहकारिता कर्मचारी इस बार आर-पार लड़ाई के मूड में है। मझौली तहसील के समस्त सहकारिता कर्मचारियों के द्वारा सेवा सहकारी समिति मझौली में एकत्रित होकर अपने अनिश्चितकालीन हड़ताल का आगाज किया

 सहकारिता कर्मचारियों की प्रमुख मांग सहकारिता संस्था के समस्त कर्मचारियों को शासकीय कर्मचारियों के समान वेतनमान सेवा नियम जो पूर्व में लागू है जारी किया जाए है।  

राशन दुकानों में अनाज का वितरण ठप्प, गेहूं उपार्जन पर भी मंडराया खतरा

मांगें पूरी न होने तक सभी सहकारिता कर्मचारी न तो अनाज वितरण का कार्य करेंगे और न ही उपार्जन संबंधी किसी कार्य को करेंगे। वैसे भी कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से ग्रामीण क्षेत्र की राशन दुकानों में राशन का वितरण ठप हो गया है। वहीं दूसरी तरफ समर्थन मूल्य पर सरकार की धान खरीदी की प्रक्रिया में भी सहकारी कर्मचारी अहम भूमिका निभाते है इनके हड़ताल पर जाने से गेहूं के उपार्जन के काम में भी अब खतरा मंडराने लगा है। सरकारी कर्मचारियों ने शासन को स्पष्ट रूप से कहा गया है कि मांगे पूरी न होने तक कलम बंद हड़ताल अनिश्चितकाल के लिए जारी रहेगी 

हड़ताल में यह रहे शामिल

लंबे समय से अपनी मांगों की लड़ाई लड़ रहे सहकारिता कर्मचारियों की  कलम बंद हड़ताल में समस्त शाखा अध्यक्ष, सहायक प्रबंधक, लिपिक, विक्रेता, ऑपरेटर  एवं चौकीदार शामिल रहे।
Previous Post Next Post