Ticker

6/recent/ticker-posts

पीएचसी गोसलपुर में हो पीएम कीसुविधा

पीएचसी गोसलपुर में हो पीएम की
सुविधा, समिति ने मुख्यमंत्री को भेजा मांग पत्र,
स्वास्थ्य विभाग ने गृह विभाग को भेजा पत्र
सिहोरा

सिहोरा तहसील के अंतर्गत संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गोसलपुर में पीएम (शव परीक्षण) कराने की अनुमति का मांग पत्र जनसेवा समिति के अध्यक्ष हेमचंद असाटी के द्वारा जिले के मुखिया समेत पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रत्नेश कुररिया सहित क्षेत्रीय विधायक को मांग पत्र सौंपकर गोसलपुर मे स्थानीय स्तर पर पीएम कराने की अनुमति प्रदान करने की मांग की गई है।
सौपे गए पत्र में लेख है की गोसलपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की उपलब्धता के साथ भवन व अन्य संसाधन भी उपलब्ध है।गोसलपुर में स्थित पुलिस थाना के अंतर्गत सिहोरा एवं मझौली के लगभग एक सैकडा गांव संलग्न है। जिसमें लगभग बारह किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग का हिस्सा भी आता है। इसके अलावा रेल मार्ग भी स्थित है। इन सभी जगहों पर आए दिन सड़क दुर्घटना रेल दुर्घटना व थाना के अनेक गांव में घटना दुर्घटना में मृत व्यक्तियों के पीएम कराने हेतु पीड़ित परिजनों व स्थानीय पुलिस को जबलपुर व सिहोरा जाना पड़ता है। जिसके कारण अनेक परेशानियों से पीड़ित परिवार व स्थानीय पुलिस प्रशासन को जूझना पड़ता है।
ज्ञात हो की पुलिस थाना गोसलपुर में शव वाहन न होने के कारण ऐसी स्थिति में शव का परीक्षण कराने हेतु लोगों को निजी वाहन से जबलपुर सिहोरा ले जाना पड़ता है। जिसमे मानसिक एवं आर्थिक रूप से अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। लोगों ने इस दिशा में जिला प्रशासन से ध्यान देने की
मांग की है।

इनका कहना है

नए शव परीक्षण केंद्र की स्थापना मध्यप्रदेश शासन गृह विभाग की अनुमति के पश्चात होती है। उक्त मांग पत्र के आधार पर मंजूरी हेतु प्रस्ताव बनाकर गृह मंत्रालय भोपाल भेजा गया है।
डॉ.रत्नेश कुररिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जबलपुर