Ticker

6/recent/ticker-posts

नशीले इंजेक्शन के कारोबार मे लिप्त 3 आरोपी गिरफ्तार, 226 नग नशीले इंजेक्शन एवं 14 सिरिंज जप्त

नशीले इंजेक्शन के कारोबार मे लिप्त 3 आरोपी गिरफ्तार, 226 नग नशीले इंजेक्शन एवं  14 सिरिंज जप्त

जबलपुर             

            थाना प्रभारी गोरखपुर  ब्रजभान सिंह ने बताया कि आज क्राईम ब्रांच केा विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि संदीप सोनकर निवासी प्रेमासागर बेलबाग का जहरीले नशे वाले इंजेक्शन महर्षि स्कूल के बाजू में खाली पड़े मैदान में एक थैले में रखकर बेच रहा है सूचना पर क्राईम ब्रांच  एवं थाना गोरखपुर की संयुक्त टीम द्वारा मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गई जहां तीन व्यक्ति दिखे जिन्हें घेराबंदी कर पकड़ा गया, एक व्यक्ति अपने हाथ में सफेद रंग का कपड़े  का थैला लिये था जिसने नाम पता पूछने पर अपना नाम संदीप सोनकर उम्र 32 वर्ष निवासी प्रेमसागर बेलबाग का बताया थैले की तलाशी लेने पर 103 नग फैनेरामाईन मेलेट इंजेक्शन आईपी पेकाविल के प्रत्येक इंजेक्शन 10 एमएल वाले तथा 18 पैकेट में 5-5 शील पैक इंजैक्शन व्यूप्रेनोफिन इंजेक्शन आईपी लीजेसिक के कुल 90 तथा व्यूप्रेनोफिन इंजेक्शन आईपी ब्यूपिन 2 एमएल के 18 इंजेक्शन तथा 10 सिरिंज थैले में  एवं इंजेक्शन बिक्री के 480 रूपये रखे मिला , दूसरे व्यक्ति ने नाम पता पूछने पर अपना नाम शुभम गुप्ता उम्र 28 वर्ष निवासी हनुमानताल का बताया, तलाशी लेने पर पेंट की जैब में 5 शीशी फैनेरामाईन मेलेट इंजेक्शन आईपी पेकाविल तथा एक पैकेट व्यूप्रेनोफिन इंजेक्शन आईपी लीजेसिक के 5 इंजेक्शन तथा 2 सिरिंज रखे मिला, जिसने पूछताछ पर उक्त इंजेक्शन संदीप सोनकर से वहीं पर नशे के लिये खरीदना बताया, तीसरे व्यक्ति ने नाम पता पूछने पर अपना नाम ऋषभ केशरवानी उम्र 20 वर्ष निवासी सरकारी कुआं  घमापुर का बताया, तलाशी लेने पर पेंट की जेब में एक पैकिट व्यूप्रेनोफिन इंजेक्शन आईपी ब्यूपिन 2 एमएल के 5 इंजेक्शन एवं 2 सिरिंज  रखे मिला उक्त इंजेक्शन के संबंध मे पूछने पर वहीं पर संदीप सोनकर से खरीदना बताया। आरोपियों के कब्जे से 103 नग फैनेरामाईन मेलेट इंजेक्शन आईपी पेकाविल, 90 नग व्यूप्रेनोफिन इंजेक्शन आईपी लीजेसिक, 23 नग व्यूप्रेनोफिन ब्यूपिन, 14 सिरिंज , 5 शीशी फैनेरामाईन मेलेट इंजेक्शन, 5 नग व्यूप्रेनोफिन लीजेसिक इंजेक्शन एवं बिक्री के 480 रूपये जप्त करते हुये आरोपियों के विरूद्ध धारा 5/13 म.प्र.ड्रग कंट्रोल अधिनियम तथा 328 भा.द.वि. के तहत कार्यवाही करते हुए उक्त नशीले इंजेक्शन कहां से और कैसे प्राप्त किए के संबंध में सघन पूछताछ की जा रही है।