गोसलपुर में आईपीएल क्रिकेट मैच के सट्टे के कारोबार में लिप्त 4 सटोरिए गिरफ्तार, एक फरार तलाश जारी

गोसलपुर में आईपीएल क्रिकेट मैच के सट्टे के कारोबार में लिप्त 4 सटोरिए  गिरफ्तार, एक फरार तलाश जारी

नगद 25 हजार 970 रूपये एवं 3 मोबाइल जप्त

सिहोरा 

 आईपीएल क्रिकेट मैच का सट्टा खिलाने वाले एवं सट्टा लिखने वाले सटोरियों की धरपकड़ एवं उनके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा द्वारा चलाये जा रहे अभियान के तहत समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं सभी थाना प्रभारियों को आदेशित किया गया था।  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शिवेश सिंह बघेल तथा  एस.डी.ओ.पी. (सिहोरा)  भावना मरावी  के मार्गदर्शन में थाना गोसलपुर मे पुलिस द्वारा क्रिकेट का सट्टा लिखते चार सटोरियों को पकडा जाकर कब्जे से सट्टा पट्टी नगद 25 हजार 970 रूपये तथा 3 मोबाइल जप्त किए।

थाना प्रभारी गोसलपुर शशांक  (भा.पु.से.) ने बताया की विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई की एक व्यक्ति असाटी धर्मशाला के पास हनुमान मंदिर बुढ़ागर में बैठकर आईपीएल क्रिकेट मैच को मोबाइल में देखकर सट्टा लगवा रहा है। सूचना पर मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी। असाटी धर्मशाला के पास हनुमान मंदिर के बल्व की रोशनी में एक व्यक्ति मोबाइल पर देखकर एक कागज में पेन से कुछ लिखते हुये दिखा। जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया जिसने नाम पता पूछने पर अपना नाम महेन्द्र साहू (25)  निवासी बढ़ी मढ़ीया के पास बुढ़ागर का बताया। जिसके हाथ में लिये मोबाइल को चैक करने पर क्रिकेट लाईन गुरू एप्लीकेशन पर राजस्थान रॉयल्स वर्सिस रायल चैलेन्जर बैंगलोर का मैच देखकर भाव के हिसाब से कागज पर सट्टा लिखना पाया गया। जिसने पूछताछ पर क्रिकेट मैच के सीधे प्रसारण को देखकर मैच की हार जीत रन एंव विकेट का सट्टा ग्राहकों से कागज में लिखकर सट्टे का व्यापार करना तथा मैच के बाद लकी असाटी निवासी बस स्टेण्ड बुढ़ागर को मैच का हिसाब किताब घर जाकर देना बताया। आरोपी महेन्द्र साहू के कब्जे से एक रियलमी कम्पनी का मोबाइल, सट्टा पट्टी एवं नगद 24 हजार 870 रूपये जप्त करते हुये बस स्टेण्ड के पास बुढागर में दबिश देते हुये लकी असाटी (29) वर्ष निवासी बस स्टेण्ड बुढ़ागर को पकडा। जिसने पूछताछ पर महेन्द्र साहू के साथ मिलकर आईपीएल क्रिकेट मैच के सट्टे का व्यापार करना स्वीकार किया दोनों के विरूद्ध धारा 4 (क) सट्टा एक्ट एवं 109 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया। क्रिकेट के सट्टे के व्यापार मे लिप्त दो सटोरियों को पकडने में उप निरीक्षक सतीष अनुरागी, आरक्षक सतेन्द्र विसेन  अवधेश की सराहनीय भूमिका रही।
Previous Post Next Post