महान समाज सुधारक, समाज सेवी और लेखक के साथ क्रांतिकारी थे ज्योतिबा फुले

महान समाज सुधारक, समाज सेवी और लेखक के साथ क्रांतिकारी थे ज्योतिबा फुले
भाजयुमो जबलपुर (ग्रामीण) ने मनाई  195वीं जयंती

सिहोरा 

महात्मा ज्योतिबा राव फुले की 195वीं जयंती भारतीय जनता युवा मोर्चा जबलपुर (ग्रामीण) ने सिहोरा के आदिवासी बालक छात्रावास में मनाई गई। भाजयुमो नेता- कार्यकर्ताओं ने महात्मा ज्योतिबा फुले के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया।

भाजयुमो जिला ग्रामीण अध्यक्ष राजमणि सिंह बघेल के मुख्य आतिथ्य, भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष आयुष सेठी, मंत्री पलाश दुबे के संयोजन में आयोजित कार्यक्रम में भाजयुमो जिला ग्रामीण अध्यक्ष ने कहा कि महात्मा ज्योति राव फुले 19वीं सदी के महान समाज सुधारक समाज सेवी लेखक और क्रांतिकारी कार्यकर्ता थे। उनका जन्म 11 अप्रैल 1827 को महाराष्ट्र के सतारा में हुआ। उन्होंने अपना पूरा जीवन महिला और दलितों के उत्थान में लगा दिया स्त्रियों को शिक्षा का अधिकार दिलाने और बाल विवाह पर रोक लगाने के लिए उन्होंने काम किया। पूरा जीवन लड़कियों के उत्थान के लिए अर्पण कर दिया। भाजयुमो नेता और कार्यकर्ताओं ने छात्रावास के बालकों को स्टेशनरी का सामान प्रदान किया गया। कार्यक्रम में भाजयुमो जिला महामंत्री श्री कांत परिहार, रोहित यादव, विवेक सेलर, भाजयुमो नगर मंडल अध्यक्ष रचित चौरसिया (गुल्ली), वरुण खत्री, प्रांजल तिवारी, गौतम सहजवानी के साथ बड़ी संख्या में भाजयुमो के कार्यकर्ता उपस्थित थे।
Previous Post Next Post