मकान में लगी आग गृहस्थी का सामान जलकर हुआ खाक

मकान में लगी आग गृहस्थी का सामान जलकर हुआ खाक
मझगवां क्षेत्र के सरौली गांव की घटना : लाखों के नुकसान का अनुमान, बिजली के मीटर में शॉर्ट सर्किट आग लगने की जताई जा रही संभावना

मझगवां 

मझगवां क्षेत्र के सरौली ग्राम में बुधवार रात मकान में आग भड़क उठी। देखते ही देखते आग कच्चे मकान को अपने चपेट में ले लिया। जब तक घर के लोगों को इसकी जानकारी लगी तब तक काफी देर हो चुकी। देखते ही देखते भारी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ मौके जमा ग्रामीणों ने आग को बुझाने की कोशिश की। लेकिन आग इतनी भयावह थी कि ग्रामीणों की सारी कोशिशें नाकाम हो गई। अग्नि हादसे में गृहस्थी का सारा सामान जलकर खाक हो गया। घटना में लाखों रुपए के नुकसान की बात सामने आई है। 

जानकारी के मुताबिक सरौली निवासी एनपी पाठक, देवेंद्र पाठक रहते हैं। बुधवार रात 10 बजे लगभग उनके पक्के मकान के बाजू में बने दो कच्चे मकान में आग भड़क उठी। देखते देखते आग ने पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। काफी दूर से आग की लपटें साफ देखी जा रही थी। गांव के युवाओं ने घरों से बाल्टी में पानी डालकर आग को काबू में करने का प्रयास किया, ताकि आग दूसरे घरों तक न फैले। 

खाक हो गया गृहस्थी का पूरा सामान

अग्नि हादसे में कच्चे मकान में रखा टीवी, फ्रिज, कूलर, डाइनिंग टेबल, पंखा, ओढ़ने बिछाने वाले कपड़े, लोगों के कपड़े सहित अन्य सामान जलकर पूरी तरह खाक हो गया। अनुमान लगाया जा रहा है कि आप घर में लगे मीटर में शॉर्ट सर्किट के कारण लगी है।

क्षेत्र में नहीं है फायर ब्रिगेड, लंबे समय से की जा रही मांग

ग्रामीणों के मुताबिक मझगवां क्षेत्र में फायर ब्रिगेड की मांग लंबे समय से की जा रही है। आपको बताते चलें कि मझगवां क्षेत्र में सौ के लगभग गांव हैं, लेकिन यहां पर फायर ब्रिगेड नहीं है। अग्नि हादसे में ग्रामीणों को सिहोरा की फायर ब्रिगेड पर आश्रित रहना पड़ता है। क्षेत्र से सिहोरा की दूरी करीब 18 किलोमीटर के लगभग हैं। ऐसे में कोई बड़ा अग्नि हादसा होने पर फायर ब्रिगेड की गाड़ी को आने में समय लग जाता है तब तक सब कुछ जलकर खाक हो जाता है।
Previous Post Next Post