चार दिन बाद मां नर्मदा पहुंची हिरन नदी घाट खितौला

चार दिन बाद मां नर्मदा पहुंची हिरन नदी घाट खितौला 

पानी से लबालब हुआ घाट, शाम तक सिहोरा-खितौला में घरों में जलापूर्ति हुई शुरू, आम जनता के साथ अधिकारियों ने ली राहत की सांस

सिहोरा 

करीब सप्ताह भर से जल संकट से जूझ रही 60 हजार की आबादी के सूखे कंठ को तर करने मां नर्मदा शुक्रवार सुबह खितौला हिरण नदी घाट पहुंच गई। मां नर्मदा के जल से घाट पूरी तरह लबालब भर गया। देर शाम तक 18 वार्डों में से अधिकतर वार्डों में जलापूर्ति भी शुरू हो गई। हिरण नदी में नहर का पानी आने से अधिकारियों के साथ आम लोगों ने भी राहत की सांस ली है।

मालूम रहे कि सिहोरा नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में 90 प्रतिशत पानी की पूर्ति करने वाली हिरण नदी भीषण गर्मी के चलते सूख गई थी। ऐसे में 18 वार्डों में पानी के लिए त्राहि-त्राहि मच गई। लगातार बढ़ती गर्मी के चलते हैंडपंप और बोरिंग सूख गए थे। ऐसे में जनता में जल संकट को लेकर भारी आक्रोश भी देखा जा रहा था।

बरगी दाएं तट नहर से गुरुवार को छोड़ा गया नर्मदा जल

भीषण जल संकट के चलते बरगी दाएं तट नहर से नर्मदा जल को हिरण नदी में छोड़े जाने की मांग लगातार हो रही थी। गुरुवार को अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के दबाव बनाने के बाद नर्मदा विकास विभाग के अधिकारियों ने सचुली के पास से हिरण नदी में नर्मदा जल गुरुवार शाम को छोड़ा। करीब 3 दिन के बाद शनिवार सुबह नर्मदा जल हिरण नदी खितौला घाट पहुंच गया।
Previous Post Next Post