Ticker

6/recent/ticker-posts

मध्य प्रदेश सरकार की अराजकता का शिकार हो रहे अतिथि शिक्षक

मध्य प्रदेश सरकार की अराजकता का शिकार हो रहे अतिथि शिक्षक

अतिथि शिक्षक संघ सिहोरा मझौली इकाई ने मुख्यमंत्री के नाम विधायक नंदनी मरावी और एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

सिहोरा 

 प्रदेश की सत्तारूढ़ सरकार सबका साथ सबका विकास के साथ ही इनके ध्येय वाक्य दीनदयाल अंत्योदय अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक के विकास की संकल्पना को ही धराशाई कर दिया है। जिसके कारण प्रदेश के उच्च शिक्षित अनुभवी युवा प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण युवाओं का शोषण व अत्याचार किया जा रहा है। बेहद अल्प मानदेय मजदूरों से भी कम वर्ग 03 ₹5000, वर्ग 02 ₹7000, वर्ग 01 ₹9000 वह भी शासकीय अवकाश पर कटौती के बाद नियमित नहीं दिया जा रहा है। कठिन परिश्रम के साथ विद्यार्थियों को पढ़ाने वाले अतिथि शिक्षकों के साथ सरकार द्वारा अन्याय करते हुए दिनांक 30 अप्रैल 2022 की सेवा समाप्ति के आदेश जारी कर दिए गए। जिसके कारण आक्रोशित जबलपुर जिला अतिथि शिक्षक संघ सिहोरा मझौली इकाई के अतिथि शिक्षकों ने (एसडीएम) अनुविभागीय अधिकारी व नंदनी मरावी विधायक सिहोरा के द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम ज्ञापन सौंपा। जिसमें प्रमुख रुप से 30 अप्रैल 2022 सेवा समाप्ति के आदेश को खारिज किया जाए, तत्काल मानदेय वृद्धि की जाए व अतिथि शिक्षकों का नियमितीकरण किया जाए। ज्ञापन सौंपते समय विमल किशोर यादव, राकेश कुमार यादव, नरेश कुमार बर्मन, अजय कुमार, दीपांकर, सुलभ मिश्रा उपस्थित रहे।