Ticker

6/recent/ticker-posts

खबर का असरहिरदेनगर राशन दुकान को अधिकारियों ने किया सील, खराब गेहूं के सैंपल लेकर भेज जांच के लिए क्वालिटी कंट्रोल

खबर का असर

हिरदेनगर राशन दुकान को अधिकारियों ने किया सील, खराब गेहूं के सैंपल लेकर भेज जांच के लिए क्वालिटी कंट्रोल
हितग्राहियों से वापस मंगाया गेहूं, 82 क्विंटल राशन आया था हितग्राहियों को वितरित करने


सिहोरा 

सिहोरा तहसील की हिरदेनगर राशन दुकान से गरीब हितग्राहियों को कीड़े युक्त और खराब राशन वितरण को लेकर weenews ने "गरीबों को बांट दिया कीड़े व मिट्टी मिला गेहूं" की खबर प्रकाशित की थी। खबर छपने के बात विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मच गया। जबलपुर कलेक्टर के संज्ञान में मामला आने के बाद एसडीएम के निर्देश पर कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी हिरदेनगर राशन दुकान जांच के लिए पहुंची। हितग्राहियों को वितरित करने के लिए रखे गेहूं के सैंपल लिए गए। जिन्हें जांच के लिए क्वालिटी कंट्रोल जबलपुर भेजा जाएगा। जांच रिपोर्ट आने तक हितग्राहियों को गेहूं का वितरण रोक दिया गया है। पूरे मामले की जांच रिपोर्ट एसडीएम सिहोरा को भेजी जाएगी।

ये है पूरा मामला 

मालूम रहे कि सोमवार को हृदय नगर राशन दुकान में दुकान संचालक द्वारा गरीब हितग्राहियों को कीड़ेयुक्त मिट्टी मिला गेहूं बांटा गया था। कई हितग्राहियों ने खराब गेहू लेने से इंकार कर दिया। जिसके बाद हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मामले की जानकारी जबलपुर कलेक्टर को दी गई। कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी सिहोरा पल्लवी जैन को मामले की जांच के लिए हिरदेनगर राशन दुकान की जांच के निर्देश दिए। 

82 क्विंटल गेहूं भेजा गया था वितरण के लिए हितग्राहियों

कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी पल्लवी जैन के मुताबिक हिरदेनगर राशन दुकान में 82 क्विंटल गेहूं गरीबों को बांटने के लिए भेजा गया था। जिनमें से कुछ बोरों में कीड़े और मिट्टी मिली है। सभी बोरों के सैंपल जांच के लिए लिए गए। कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी ने स्टॉक और मौके पर मिले गेहूं के बोरों का मौके पर पंचनामा तैयार किया। पंचनामा और पूरे मामले का जांच प्रतिवेदन एसडीएम सिहोरा को भेजा जाएगा।