Ticker

6/recent/ticker-posts

अखिल भारतीय ओबीसी महासभा ओबीसी एससी-एसटी संयुक्त मोर्चा का प्रदर्शन

अखिल भारतीय ओबीसी महासभा ओबीसी एससी-एसटी संयुक्त मोर्चा का प्रदर्शन

बिजली की अघोषित कटौती और जले ट्रांसफार्मर बदलने सिहोरा डीई कार्यालय में नारेबाजी

सिहोरा 

एक तरफ सरकार किसानों को गर्मी की प्रमुख फसल मूंग और उड़द की सिंचाई के लिए 10 घंटे बिजली देने की बात कह रही है, वहीं दूसरी तरफ हालात यह हैं कि सिहोरा ग्रामीण क्षेत्र में किसान को दो से तीन घंटे बिजली सिंचाई के लिए मिल रही है। वहीं दूसरी तरफ लगातार ट्रांसफार्मर फेल हो रहे हैं, बिजली कंपनी के अधिकारी तीन दिन में सुधारने की बात तो कहते हैं, लेकिन सुधार के नाम पर कुछ नहीं होता। पर्याप्त बिजली नहीं मिलने से मूंग और उड़द की फसलें खेतों में खराब होने की कगार पर पहुंच गई हैं।
   मंगलवार को अखिल भारतीय ओबीसी महासभा ओबीसी एससी एसटी संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों के साथ पहुंचे किसानों ने बिजली कंपनी के कार्यपालन यंत्री के कार्यालय में जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया ब्लॉक अध्यक्ष जितेंद्र कुमार कुर्मी,  किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष रामराज पटेल, ब्लॉक सचिव संत कुमार पटेल, बृजेंद्र पटेल, मदन पटेल, आशीष पटेल, गोकुल पटेल, अखिलेश पटेल, जितेंद्र दीवान, श्याम किशोर पटेल, पवन पटेल ने कार्यपालन यंत्री के नाम एई को ज्ञापन सौंपते हुए कृषि बिजली 10 घंटे रेगुलर देने, अघोषित कटौती तत्काल बंद करने, जले खराब ट्रांसफार्मर को तुरंत बदलने, लोड के आधार पर ट्रांसफार्मर बैठाने, कृषि ट्रांसफार्मर छूट वाली योजना को पुनः शुरू करने और जितनी लाइट की कटौती होती है उतनी लाइट को बढ़ाकर देने की मांग की। तीन दिवस के अंदर यदि इन मांगो को पूरा नहीं किया जाता तो संयुक्त मोर्चा वृहद आंदोलन करेगा।